विज्ञापन
Home » Economy » InternationalUS approves sale of two missile defence systems to India to protect aircraft flying President, PM

भारत खरीदेगा ऐसा हथियार, हर मिसाइल से सेफ हो जाएगा मोदी का प्लेन

अमेरिका बेचेगा दो मिसाइल डिफेंस सिस्टम, सेफ होंगे पीएम और राष्ट्रपति

1 of


वाशिंगटन. अमेरिका, भारत को एक ऐसा हथियार बेचने को राजी हो गया है, जो भारतीय प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के विमान को हर खतरे से सेफ कर देगा। दरअसल अमेरिका, भारत सरकार को दो एडवांस मिसाइल डिफेंस सिस्टम बेचने को तैयार हो गया है। ये डिफेंस सिस्टम खास तौर पर उन दो बोइंग-777 (Boeing 777) हेड ऑफ स्टेट एयरक्राफ्ट में लगाया जाएगा, जिनसे भारतीय राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सफर करते हैं। यह डील लगभग 19 करोड़ डॉलर (1350 करोड़ रुपए) की होगी। यह एक ऐसा डिफेंस सिस्टम में है जो प्लेन पर होने वाले मिसाइल हमले को नाकाम कर सकता है।

 

 

1350 करोड़ रु में होगी डील

पेंटागन के मुताबिक, इसकी बिक्री से यूएस-इंडिया स्ट्रैटजिक रिलेशनशिप को मजबूती मिलेगी और उसकी विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा को भी सपोर्ट मिलेगा। अमेरिका की डिफेंस सिक्युरिटी कोऑपरेशन एजेंसी (DSCA) ने बुधवार को एक नोटिफिकेशन के माध्यम से कहा कि डोनाल्ड ट्रम्प सरकार ने 19 करोड़ डॉलर की लागत से लार्ज एयरक्राफ्ट इनफेयर्ड काउंटरमीसर्स (LAIRCM) और सेल्फ प्रोटेक्शन (SPS) के नाम से पहचाने जाने वाले दो सिस्टम को खरीदने को मंजूरी दे दी है। 

दरअसल भारत सरकार ने प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के लिए पैदा हुए बड़े खतरे को देखते हुए हाल में LAIRCM और SPS खरीदने का अनुरोध किया था। इस अनुरोध के बाद ही अमेरिका ने यह फैसला किया है।

 

 

एयर इंडिया वन में लगेंगे दोनों डिफेंस सिस्टम

इस डिफेंस सिस्टम के मिलने के बाद ‘एयर इंडिया वन’ (Air India One), अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले एयर फोर्स वन (Air Force One) की तरह सुरक्षित हो जाएगा। एयर इंडिया वन (Air India One) को भारतीय प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। पेंटागन ने कहा कि इन दोनों डिफेंस सिस्टम को एयर इंडिया वन में ही इस्तेमाल किया जाएगा।

 

 

एयर इंडिया से दो विमान खरीदेगी भारत सरकार

भारत सरकार की इस उद्देश्य से सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया (Air India) से दो बोइंग 777 ईआरएस (Boeing 777 ERs) खरीदने की योजना है। पूर्व योजना के तहत अब इन दोनों एयरक्राफ्ट को एयर इंडिया द्वारा कमर्शियल कार्यों के इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन