बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalद. कोरिया की पूर्व प्रेसिडेंट की करीबी को 20 साल की जेल, कंपनियों से वसूले थे करोड़ों

द. कोरिया की पूर्व प्रेसिडेंट की करीबी को 20 साल की जेल, कंपनियों से वसूले थे करोड़ों

साउथ कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति से जुड़े स्कैंडल में अहम भूमिका के चलते उनकी विश्वास पात्र एक महिला दोषी साबित हुई है।

1 of

 

सिओल. साउथ कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति पार्क जिन-हे से जुड़े स्कैंडल में अहम भूमिका के चलते उनकी विश्वास पात्र एक महिला सहयोगी को दोषी ठहरा दिया गया और 20 साल की सजा सुनाई गई। इसी स्कैंडल के चलते पार्क को राष्ट्रपति पद छोड़ना पड़ा था। इस महिला पर राष्ट्रपति की तरफ से सैमसंग और लोट्टे जैसी कंपनियों से करोड़ रुपए वसूलने के आरोप लगे थे।

 

इस महिला के चलते देश में आ गया था भूचाल

इस महिला का नाम चोई सून-सिल है, जो संदिग्ध धार्मिक शख्सियत के तौर पर चर्चित अपने पिता के माध्यम से पार्क के नजदीक आई थीं। इनको लेकर देश भर में भारी विरोध प्रदर्शन हुए थे, जिससे एशिया की चौथी बड़ी इकोनॉमी में भूचाल आ गया था और इस क्रम में पार्क पर बीते साल महाभियोग की कार्रवाई हुई थी।

 

सैमसंग-लोट्टे जैसी कंपनियों से वसूले थे करोड़ों

उन पर पार्क के साथ मिलीभगत में सैमसंग और लोट्टे जैसी साउथ कोरिया की कई जानी-मानी कंपनियों से करोड़ों वसूलने के साथ ही प्रेसिडेंट के साथ अपने संबंधों का सरकारी कामों में इस्तेमाल करने के आरोप लगे थे।

 

इन मामलों में दोषी साबित हुई महिला

सिओल सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने चोई सून-सिल को अधिकारों के दुरुपयोग, घूसखोरी और सरकारी कामों में दखलंदाजी का दोषी माना। खचाखच भरे कोर्टरूम में जज किम से-यून ने कहा कि चोई ने पार्क के साथ अपने 'लंबे निजी संबंधों' का फायदा उठाते हुए खुद के नियंत्रण वाले फाउंडेशंस को फंड्स डोनेट करने के लिए बाध्य किया।

 

उन्होंने कहा कि चोई को दिग्गज टेलिकम्युनिकेशन कंपनी सैमसंग और रिटेलर लोट्टे से 14 अरब वॉन (1.3 करोड़ डॉलर) मिले और उन्होंने 'सरकारी मामलों में व्यापक तौर पर दखलंदाजी की।' जज ने कहा कि चोई को इस पर कोई पछतावा नहीं था और उन्हें 'पूरी तरह दोषी ठहराया जाता है।'

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट