विज्ञापन
Home » Economy » InternationalPak fails to secure USD 3.2 billion UAE oil facility

अरब देश ने दिया पाकिस्तान को बड़ा झटका, नहीं मिलेगा 23 हजार करोड़ का फायदा

एक और नए संकट में फंस सकता है पाकिस्तान

1 of

इस्लामाबाद. कैश की तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान को संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने तगड़ा झटका दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तान तेल खरीद के एवज में 3.2 अरब डॉलर (23 हजार करोड़ रुपए) के डिफर्ड पेमेंट (बाद में भुगतान) की सुविधा लेने में नाकाम रहा है। पाकिस्तान के फाइनेंस मिनिस्टर असद उमर (Asad Umar) के हवाले से यह जानकारी सामने आई है।

 

अरब देश से फायदा लेने में रहा नाकाम

यह ऑयल फैसिलिटी 6.2 अरब डॉलर के उस पैकेज का हिस्सा है, जिसका यूएई ने भारी आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को मदद करने के लिए दिसंबर में ऐलान किया था। फाइनेंस मिनिस्टर उमर ने एक्सप्रेस ट्रिब्यून को बताया, ‘इस बात की काफी संभावना है कि यूएई ऑयल फैसिलिटी एग्रीमेंट हकीकत नहीं बन पाएगा।’

 

यह भी पढ़ें-F-16 पर पाकिस्तान ने बोला बड़ा झूठ, तो तीसरे देश ने खोल दी उसकी पोल

 

विदेशी मुद्रा भंडार पर बढ़ेगा प्रेशर

रिपोर्ट के मुताबिक, इस घटनाक्रम से एक बार फिर से पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार दबाव में आ जाएगा, जिसे हाल में कुछ मित्र देशों की मदद से राहत मिली थी। हालांकि उमर ने कहा कि सरकार ने इस साल बाहरी फाइनेंसिंग जरूरतों को पूरा करने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था कर ली है। 

 

यह भी पढ़ें-जिस F-16 पर इतराता है पाकिस्तान, उसे अपनी एयरफोर्स से हटाने जा रहा यह देश

2 अरब डॉलर ट्रांसफर कर चुका है यूएई

रिपोर्ट के मुताबिक, यूएई द्वारा 3.2 अरब डॉलर की ऑयल फैसिलिटी कैंसिल किए जाने की वजह का पता नहीं चल सकता है। वहीं यूएई ने पिछले महीने होने वाली ज्वाइंट मिनिस्ट्रीयल मीटिंग को भी टाल दिया था। रिपोर्ट में कहा गया कि यूएई 2 अरब डॉलर का कैश स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (State Bank of Pakistan) को ट्रांसफर कर चुका है और अतिरिक्त 1 अरब डॉलर जल्द ही ट्रांसफर किए जाने का अनुमान है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss