बिज़नेस न्यूज़ » Economy » InternationalPNB फ्रॉड: नीरव मोदी के विदेशी संपत्तियों की होगी जांच, मुंबई कोर्ट ने ED को दी अनुमति

PNB फ्रॉड: नीरव मोदी के विदेशी संपत्तियों की होगी जांच, मुंबई कोर्ट ने ED को दी अनुमति

PNB फ्रॉड मामले में अब ईडी 6 देशों में स्थित नीरव मोदी के संपत्तियों की पहचान कर उन्हें सीज करने का काम शुरू करेगी।

1 of

नई दिल्ली। PNB फ्रॉड मामले में अब एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी) 6 देशों में स्थित नीरव मोदी के संपत्तियों की पहचान कर उन्हें सीज करने का काम शुरू करेगी। इस बारे में मुंबई की स्पेशन कोर्ट ने ईडी को लेटर रोगेटरी जारी कर दिया है। यह लेटर स्पेशल जज एमएस अजमी द्वारा जारी किया गया है। लेटर जारी होने के बाद पीएमबी फ्रॉड कर विदेश भाग चुके नीरव मोदी के विदेशी संपत्तियों पर शिकंजा कसने का रास्ता साफ हो गया है। 

 

 

बता दें कि इससे पहले ईडी ने लेटर रोगेटरी  (LRs) हासिल करने के लिए मुंबई स्थित कॉम्पिटेंट कोर्ट से अनुरोध किया था। अब यह लेटर उन देशों को भेजा जाएगा, जहां जांच एजेंसियों को नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के एसेट्स होने की बात पता चला है। इन देशों में या तो इनका बिजनेस है या किसी के साथ ये एसोसिएट हैं। इन देशों में हॉन्ग कॉन्ग, सिंगापुर, दुबई, यूके, यूएस और साउथ अफ्रीका शामिल हैं। 

 

फाइनेंशियल होल्डिंग का पता लगाना है मकसद            

इसके अलावा जांच एजेंसी अपने कुछ अधिकारियो को भी एजेंसी टु एजेंसी एक्सचेंज बेस पर उन देशों में जांच के लिए भेजेगी। ईडी का मकसद है कि वह इस बात का पता लगा सके कि विदेशों में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की फाइनेंशियल होल्डिंग कितनी है, जिससे फ्रॉड की गई रकम की रिकवरी आसान हो। बता दें कि नीरव मोदी और चौकसी 11400 करोड़ रुपए के पीएनबी फ्रॉड के बाद देश छोड़कर फरार हो चुके हैं।

 

सबूत जुटाने में मदद मिलेगी 
ईडी ने कहा कि इससे हॉन्ग कॉन्ग, सिंगापुर, दुबई, यूके, यूएस और साउथ अफ्रीका में नीरव की एसेट्स जब्त करने के अलावा डॉक्यूमेंट्स व सबूत जुटाने में मदद मिलेगी। ईडी ने कोर्ट को बताया कि नीरव मोदी ने कई कंपनियां बनाई हैं। इनमें डायमंड आर यूएस, सोलर एक्सपोर्ट्स, स्टेलर डायमंड, फायरस्टार डायमंड शामिल हैं। ईडी ने कहा कि नीरव मोदी एकीकृत हीरा विनिर्माता बन गया था जो बिना तराशे हीरों का आयात करता था। वहीं तराशे हीरे और स्टोन व डिजाइनर ज्वैलरी बेचता था।

 

ईडी  ने अपील में ये बातें कहीं
ईडी ने अपील में कहा कि नीरव मोदी ने अपना कारोबार अमेरिका, ब्रिटेन, यूएई, दक्षिण अफ्रीका और सिंगापुर तक फैलाया हुआ है। उसने अपनी कंपनियों के लिए पंजाब नेशनल बैंक से समूह की कंपनियों के पक्ष में कई गारंटी पत्र (LoU) हासिल किए जिसमें PNB की ओर से भेजे गए स्विफ्ट (सोसायटी फॉर वर्ल्डवाइड इंटरबैंक फाइनेंशियल टेलीकम्युनिकेशंस) संदेशों के जरिए उसकी कंपनियों को कर्ज मिला। एजेंसी के अनुसार बाद में बैंक ने पाया कि ये LoU फर्जी तरीके से हासिल किए गए और बैंक के रिकॉर्ड में उनका उल्लेख नहीं था।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट