बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalआईएमएफ की कोटा प्रणाली की हो समयबद्ध समीक्षा, जेटली ने उठाई मांग

आईएमएफ की कोटा प्रणाली की हो समयबद्ध समीक्षा, जेटली ने उठाई मांग

भारत ने IMF की कोटा प्रणाली की समय-समय पर समीक्षा की मांग की है।

1 of

 

वाशिंगटन. भारत ने अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की कोटा प्रणाली की समय-समय पर समीक्षा की मांग करते हुए अंतरराष्‍ट्रीय मौद्रिक प्रणाली के जोखिमों को कम करने के लिए कोटा आधारित स्थाई प्रणाली बनाने की अपील की। वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा अंतरराष्‍ट्रीय मौद्रिक व वित्तीय समिति की बैठक में दिए अपने भाषण में यह मांग की गई। वित्तमंत्री की अनुपस्थिति में उनका यह भाषण भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर उर्जित पटेल ने पढ़ा।

 

 

वित्‍त मंत्री और गवर्नन शामिल हुए हैं बैठक में

विश्व बैंक और आईएमएफ की बैठक में पहुंचे भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई उर्जित पटेल कर रहे हैं। बैठक में सदस्य देशों के वित्त मंत्री व केंद्रीय बैंक के प्रमुख एक साथ पहुंचे हैं। वित्त मंत्रालय की ओर से जारी बयान में जेटली ने कहा, “आईएमएफ के लिए मजबूत कोटा आधारित स्थाई संसाधन संरचना से वैश्विक वित्तीय सुरक्षा नेट (जीएफएसएन) मजबूत होगा और अंतरराष्‍ट्रीय मौद्रिक प्रणाली के जोखिम कम होंगे।”

 

- जेटली ने कहा, “हम 2019 की बैठक तक आम कोटा समीक्षा (जीआरक्यू) पूरा होने पर साझा बहुपक्षीय प्रतिबद्धता का समर्थन करते हैं, मगर 2019 की सालाना बैठक के बाद नहीं, क्योंकि हम उभरते हुए उन बाजारों व विकासशील अर्थव्यवस्थाओं का कोटा फिर से बनाने की मांग करते हैं, जिनका प्रतिनिधित्व आगे 0.5 फीसदी अंक बढ़कर अंतिम रिपोर्ट में 7.5 फीसदी हो गया है।”

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट