बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalभारत के बाद अमेरिका भी झुका चीन के सामने, ताइवान के आगे लिख दिया चीन

भारत के बाद अमेरिका भी झुका चीन के सामने, ताइवान के आगे लिख दिया चीन

भारत के बाद अब अमेरिका भी चीन की एक डिमांड के झुक गया है। दरअसल चीन ने कई देशों से ताइवान के नाम के आगे चीन लिखने की मां

1 of

 

हॉन्गकॉन्ग. भारत के बाद अब अमेरिका भी चीन की एक डिमांड के आगे झुक गया है। दरअसल चीन ने कई देशों से ताइवान के नाम के आगे चीन लिखने की मांग की थी। अमेरिका की बड़ी विमानन कंपनियों ने चीन की मांग को मानते हुए ताइवान को उसका हिस्सा मान लिया है। हालांकि अमेरिका के इस फैसले से ताइवान की नाराजगी बढ़ गई है। गौरतलब है कि भारत की सरकारी एयरलाइन एअर इंडिया पहले ही इस डिमांड को मान चुकी है।

 

 

ताइवान ने किया विरोध

ताइवान ने इसे चीन की ‘जबरन मनवाई गई कार्रवाई’ करार देते हुए आलोचना की है। उसने कहा कि चीन अंतरराष्ट्रीय कंपनियों पर दबाव बनाकर अपनी बात मनवा रहा है। ताइवान के विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ताइवान का अस्तित्व एक हकीकत है। चीनी सरकार के दबाव के चलते उसका अस्तित्व खत्म नहीं हो जाएगा।’

 

 

चीन ने कई देशों की एयरलाइंस को भेजा था नोटिस

ताइवान एक स्व-शासित लोकतंत्र है, लेकिन बीजिंग उसे अपना इलाका बताते हुए जरूरत पड़ने पर बलपूर्वक खुद में मिलाने की बात करता रहा है। साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उसे अलग-थलग पड़ने की कोशिशें करता रहा है।

चीन के सिविल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने इस साल अप्रैल में दुनिया की कई एयरलाइंस को नोटिस भेजकर चीन के स्टैंडर्ड्स पालन करने के लिए कहा था और इस बदलाव के लिए बुधवार तक डेडलाइन तय की थी।

 

 

हॉन्गकॉन्ग और अमेरिकी भी झुके

उधर हॉन्गकॉन्ग की प्रमुख एयरलाइन कैथे पैसिफिक और उसकी सब्सिडियरी कैथे ड्रैगन ने पूर्व में ताइवान के नाम से लिस्टिंग कर रखी थी, लेकिन बुधवार की सुबह अपनी अंग्रेजी और चीनी भाषा की वेबसाइट दोनों पर उसको ‘ताइवान, चीन’ के नाम से लिस्ट कर दिया।

अमेरिकी एयरलाइंस की स्पोक्सवुमैन शैनोन गिलसन ने एक ईमेल स्टेटमेंट में कहा, ‘अन्य एयरलाइंस की तरह ही अमेरिका भी चीन के अनुरोध पर इस बदलाव को लागू कर रहा है। एयर ट्रैवल एक ग्लोबल बिजनेस है और अपने परिचालन वाले देशों में हम नियम मानने को बाध्य हैं।’ हालांकि मई में अमेरिका द्वारा चीन की मांग को खारिज किए जाने के बावजूद यह बदलाव किया गया है।

 

आगे भी पढ़ें

 

यह भी पढ़ें-जिस चीज के लिए भिड़े अमेरिका और चीन, भारत में मिलती है 40 रु किलो

 

 

अमेरिका की कुछ एयरलाइन जल्द करेंगी बदलाव

ब्लूमबर्ग न्यूज की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका की चार एयरलाइंस-अमेरिकन एयरलाइंस, यूनाइटेड एयरलाइंस, डेल्टा और हवाइयन एयरलाइंस की आने वाले दिनों अपनी वेबसाइट में यह बदलाव करने की योजना है। अमेरिकन एयरलाइंस और डेल्टा एयरलाइंस की वेबसाइट्स पर बुधवार को ‘ताइवान’ नाम ही दर्ज था, लेकिन कुछ सर्चेस से यह नाम हटा दिया गया।

आगे भी पढ़ें

 

आगे भी पढ़ें 

 

 

एयर इंडिया को भी बदलना पड़ा नाम

चीन की कड़ी आपत्ति के बाद लगभग दो सप्ताह पहले एयर इंडिया को भी यह बदलाव करना पड़ा था। इससे पहले तक एयरलाइन की वेबसाइट पर ताइवान को पिछले महीने तक एक स्‍वतंत्र देश दिखाया जा रहा था, जिसे बदलकर ताइवान की जगह 'चीनी ताइपे' कर दिया गया।

एयर इंडिया ने अपनी वेबसाइट पर चीन की इच्छानुसार ताइवान की जगह चीनी ताइपे लिख दिया है। बता दें कि एयर इंडिया से पहले कई दूसरे देशों की एयरलाइंस भी चीन के विरोध करने के बाद हथियार डाल चुकी हैं।

 

कई देश कर चुके हैं यह बदलाव

इससे पहले दुनिया की कई हवाई सेवा देने वाली सिंगापुर एयरलाइंस, जापान एयरलाइंस और एयर कनाडा समेत कई विमानन कंपनियों ने भी अपनी वेबसाइट पर बदलाव करते हुए ताइवान की जगह 'चीनी ताइपे' कर दिया था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट