विज्ञापन
Home » Economy » InternationalGovt extends ban on import of milk products from China for 4 months

गुहार लगाता रह गया चीन, भारत ने फिर दिया झटका, दूध के इम्पोर्ट पर लगाया बैन

बेकार गया चीन का 'ऑफर', भारत ने ठुकराई मांग

1 of

नई दिल्ली. चीन के बार-बार अनुरोध के बावजूद भारत ने उसकी मांग को ठुकरा दिया है। सरकार ने एक बार फिर से चीन से दूध और चॉकलेट सहित उससे संबंधित उत्पादों (milk products) के इम्पोर्ट पर चार महीने के लिए बैन बढ़ा दिया है, जो अब अगले साल 23 अप्रैल तक लागू रहेगा। कॉमर्स मिनिस्ट्री ने एक नोटिफिकेशन के माध्यम से यह जानकारी दी है।

 

चीन ने इसी महीने लगाई थी गुहार

गौरतलब है कि चीन लगातार भारत से दूध और संबंधित उत्पादों का आयात शुरू करने की गुहार लगाता रहा है। इसी महीने की शुरुआत में भारत सरकार के प्रतिनिधियों के साथ हुई मीटिंग में चीन ने भारत को लालच भी दिया था। चीन ने कहा था कि वह भारत से अनार, अंगूर, सोयामील, मछली का तेल और फिश मील इम्पोर्ट करने का इच्छुक है। इसके साथ ही चीन ने भारत से उसके यहां से चीकू, दूध का इम्पोर्ट शुरू करने का अनुरोध किया था।
 
 

डीजीएफटी ने किया यह ऐलान

डीजीएफटी (DGFT) ने अपने आदेश में कहा, ‘चीन से दूध, मिल्क प्रोडक्ट्स (चॉकलेट, चॉकलेट प्रोडक्ट्स, कैंडीज, दूध से बने कन्फेक्शनरी आइटम्स सहित) के इम्पोर्ट पर बैन को एक बार फिर चार महीने यानी 23 अप्रैल, 2019 या अगले आदेश तक के लिए बढ़ा दिया गया है।’ यह बैन पहली बार सितंबर, 2008 में लगाया गया था और फिर समय-समय पर इसे बढ़ाया जाता रहा है।

 

आगे पढ़ें-भारत ने क्यों लगाया बैन
 

 

 

इस वजह से लगाया था बैन

यह बैन ने पिछले रविवार को ही खत्म हो गया था। कॉमर्स मिनिस्ट्री की इकाई डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड (DGFT) देश के एक्सपोर्ट और इम्पोर्ट से जुड़े मामलों को देखती है। यह प्रतिबंध चीन से आई दूध की कुछ कंसाइनमेंट में मेलामाइन की मौजूदगी की आशंकाओं को देखते हुए लगाया गया था।

आगे पढ़ें-मेलामाइन से होती हैं कौन सी बीमारियां

 

 

क्‍या होता है मेलामाइन?

मेलामाइन एक प्रकार का केमिकल है जिसका इस्तेमाल प्लास्टिक बनाने सहित विभिन्न इंडस्ट्रियल प्रॉसेस में किया जाता है। मेलामाइन की वजह से कैंसर, लकवा और किडनी जैसी बीमारियां होने की आशंका रहती है। दुनिया के अनेक देशों में मेलामाइन को प्रतिबंधित किया जा चुका है।

 

 

दूध का सबसे बड़ा कंज्यूमर है भारत

बता दें कि भारत दुनिया में दूध का सबसे बड़ा प्रोड्यूसर और कंज्यूमर है। यहां सालाना लगभग 15 करोड़ टन दूध का उत्पादन किया जाता है। वहीं उत्तर प्रदेश दूध उत्पादन के मामले में अग्रणी राज्य है, जिसके बाद राजस्थान और गुजरात का नंबर आता है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन