विज्ञापन
Home » Economy » InternationalFeatures and Price of F 16 and MiG 21

F-16 के आगे कहीं नहीं टिकता भारत का MiG-21, फिर भी तोड़ा पाकिस्तान का गुरूर

जानिए कीमत से लेकर फाइटर प्लेन की हर विशेषता

1 of


नई दिल्ली. पाकिस्तान अपनी एयरफोर्स के अत्याधुनिक फाइटर प्लेन F-16 पर लगभग ढाई दशकों से इतराता रहा है। यह प्लेन इतना ताकतवर है कि वर्ष 1982 में जब पाकिस्तान ने अमेरिका से F-16 खरीदा था, तो भारत की चिंता खासी बढ़ गई थीं। इसकी तुलना में मिग-21 (MiG-21) को खासा कमजोर माना जाता है। यह प्लेन टेक्नोलॉजी के मामले में इतना पुराना हो चुका है कि भारत 2021-21 तक इंडियन एयरफोर्स में शामिल 100 से ज्यादा मिग-21 को पूरी तरह से बाहर करने की प्लानिंग पर काम कर रही है। हालांकि पुराना होने के बावजूद मिग-21 ने पाकिस्तान के एफ-16 को गिराकर दुनिया को हैरत में डाल दिया है।

 

ऐसे तोड़ दिया पाकिस्तान का गुरूर

हाल ही में भारतीय जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान मिग-21 के दम पर एफ-16 को गिराकर दुनिया भर में चर्चा में आ गए हैं। उन्होंने न सिर्फ भारतीय सीमा में घुस आए पाकिस्तानी एफ-16 विमानों को खदेड़ दिया, बल्कि उनमें से एक विमान को तबाह करने में कामयाबी हासिल कर ली। किसी को भी जानकर हैरत हो सकती है कि मिग-21 के मुकाबले एफ-16 लड़ाकू विमान कहीं ज्यादा ताकतवर और आधुनिक है। 

 

#मिग-21 की खासियतें

कीमत- 20 लाख डॉलर (वर्ष 1974 में)

 

5 दशक से दे रहा भारत में सेवाएं

-यह फाइटर प्लेन लगभग 5 दशक से इंडियन एयरफोर्स में अपनी सेवाएं दे रहा है। सेना लगभग 800 मिग-21 का इस्तेमाल कर चुकी हैं। एयरफोर्स में अभी भी लगभग 100 मिग-21 सेवाएं दे रहे हैं।
-वर्ष 2006 में 110 मिग-21 जेट विमानों को अपग्रेड किया गया था। इस अपग्रेडेशन में इसे मल्टी-मोड रडार और बेहतर संचार प्रणाली के साथ बेहतर विमान बनाया गया था। इसकी मारक क्षमता 1470 किमी है।
-इस अपग्रेडेशन के साथ इसकी मारक क्षमता भी पहले से ज्यादा अपग्रेड की गई। इसके साथ ही विमान में आर-73 आर्चर शॉर्ट रेंज और आर-77 मीडियम रेंज एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइलों से लैस होने के बाद इसकी हवा से हवा में मारक क्षमता में भी प्रभावशाली तरीके से काफी सुधार किया गया। आगे पढ़ें-दूसरी विशेषताएं... 

 

 

 

यह भी पढ़ें-इन 5 चीजों के लिए भारत पर डिपेंड है पाकिस्तान, फिर भी दुनिया में दिखाता है अकड़


 

मूल रूप सोवियत रूस से भारत ने खरीदा था मिग-21

-मिग -21 बाइसन पायलटों को हेलमेट-माउंटेड साइट भी अपग्रेड की गई जो कि अब मिराज 2000 जैसे अन्य अपग्रेटेड जेट के पायलटों द्वारा पहना जाता है।
-मिग-21 सोवियत रूस का बनाया हुआ लड़ाकू विमान है। विमान साल 1972 में पहली बार सेवा में आया। तब से मिग में बहुत सारे बदलाव हुए हैं। यह फाइटर प्लेन बड़ी तादात में एकसाथ गोला बारूद साथ ले जाने में सक्षम है।
-मिग -21 बाइसन के बाईं ओर कॉकपिट से गोलियां बरसाने की व्यवस्था की गई है। एक बार में यह फाइटर प्लेन लगभग 420 राउंड एक साथ ले जा सकता है।
-मिग- 21 बाइसन फाइटर प्लेन हवा से हवा में मिसाइलों को मार गिराने के अलावा जमीन पर भी हमला करने में सक्षम है।
-मिग - 21 बाइसन में केमिकल और क्लस्टर बम ले जाने की व्यवस्था भी की गई है। इसके अलावा यह विमान लगभग 1000 किलो तक के वजन वाले कई तरह के बम भी अपने साथ ले जा सकता है। आगे पढ़ें-F-16 की विशेषताएं ..

 

#एफ-16 की खासियतें

कीमत-1.88 करोड़ डॉलर (वर्ष 1982 की)

 

 

घातक मिसाइलों और रॉकेट से है लैस

-एफ -16 रॉकेट, हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल, हवा से सतह पर मार करने वाली मिसाइल और हवा से जहाज तक मार करने वाली मिसाइल के साथ-साथ कई तरह के बम से लैस है। इसमें रडार ऑन-बोर्ड भी होता है।
-यह अमेरिका द्वारा निर्मित चौथी जनेरेशन का सबसे आधुनिक लड़ाकू विमान है। यह एक एक इंजन वाला सुपरसोनिक मल्टीरोल लड़ाकू विमान है। उम्दा जीपीएस नैविगेशन भी इसकी खासियत है।
-इस विमान में एडवांस स्नाइपर टारगेटिंग पॉड भी है। किसी भी मौसम में काम करने में सक्षम।
-इसमें फ्रेमलेस बबल कॉनोपी है, जिससे देखने मे सुविधा होती है. सीटें 30 डिग्री पर मुड़ी है, जिससे पॉयलट को जी-फोर्स की अनुभूति कम होती है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन