Home » Economy » InternationalChina to hit back at US with USD 60 billion tariffs

Trade War: पलटवार की तैयारी में चीन, कहा-60 अरब डॉलर के अमेरिकी प्रोडक्ट्स पर लगाएगा टैरिफ

दुनिया की दो बड़ी इकोनॉमी अमेरिका और चीन के बीच चल रही Trade War गहराने के संकेत मिल रहे हैं।

China to hit back at US with USD 60 billion tariffs

बीजिंग. दुनिया की दो बड़ी इकोनॉमी अमेरिका और चीन के बीच चल रही Trade War गहराने के संकेत मिल रहे हैं। चीन ने कहा कि अगर अमेरिकी प्रेसिडेंट Donald Trump 200 अरब डॉलर के चीनी इम्पोर्ट पर टैरिफ लगाने की योजना पर अमल करते हैं तो वह भी 60 अरब डॉलर के अमेेरिकी इंपोर्ट पर टैरिफ लगाएगा। 

 

 

अप्रैल में हुई थी ट्रेड वार की शुरुआत 
इस ट्रेड वार की शुरुआत अप्रैल में हुई थी, जब ट्रम्प सरकार ने चीन से अमेरिका में होने वाले स्टील और एल्युमीनियम इंपोर्ट पर टैरिफ लगाने का ऐलान किया था। इसके जवाब में चीन ने भी 128 अमेरिकी प्रोडक्ट्स पर लगभग 3 अरब डॉलर का अतिरिक्त टैरिफ लगाया था। 

 

 

अमेरिकी कार्रवाई का देंगे जवाबः चीन
चीन सरकार के स्वामित्व वाली शिन्हुआ न्यूज एजेंसी के मुताबिक, चीन की कॉमर्स मिनिस्ट्री ने कहा कि अमेरिका के 200 अरब डॉलर के चाइनीज गुड्स पर टैरिफ 10 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी करने की योजना की प्रतिक्रिया में अतिरिक्त टैरिफ लगाने का फैसला किया गया है। 

 

 

अमेरिका पर डब्ल्यूटीओ के नियमों का उल्लंघन का आरोप 
मिनिस्ट्री ने कहा कि चीन 60 अरब डॉलर के अमेरिकी प्रोडक्ट्स पर 5 से 25 फीसदी की रेंज में टैरिफ लगाया जाएगा। मिनिस्ट्री ने यह भी कहा कि अमेरिका की कार्रवाई वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गनाइजेशन के नियमों का उल्लंघन है और इससे चीन के हितों का नुकसान हुआ है। 

 

 

अमेरिका ने किया था यह ऐलान
गौरतलब है कि हाल में अमेरिकी सरकार ने 200 अरब डॉलर के मूल्य वाले चीनी उत्पादों पर इंपोर्ट ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी करने पर विचार करने का आदेश दिया है। अमेरिकी मीडिया के मुताबिक, ट्रंप ने बुधवार को अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि को निर्देश दिए हैं कि वह चीनी उत्पादों पर आयात शुल्क को बढ़ाकर दोगुना करने पर विचार करे। इन उत्पादों में मछली, पेट्रोलियम, रसायन, रेफ्रिजरेटर, हैंडबैग और अन्य सामान शामिल है। हालांकि, इस पर अंतिम फैसला सितंबर से पहले लिए जाने की संभावना नहीं है।

 

 

अमेरिका ने चीन की गलत नीतियों को बताया जिम्मेदार
अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटाइजर ने बयान जारी करते हुए कहा था, "चीनी सामान पर इंपोर्ट ड्यूटी पर संभावित बढ़ोत्तरी का उद्देश्य चीन को अपनी गलत नीतियों को बदलने के लिए प्रोत्साहित करना है।" अमेरिका के इस रुख पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि चीन व्यापार विवाद पर अपने रुख पर अटल है।
प्रवक्ता ने कहा, "चीन का रुख दृढ़ और स्पष्ट है। इसमें कोई बदलाव नहीं होगा। अमेरिका द्वारा हमें ब्लैकमेल करने और दबाव बनाने का कोई असर नहीं होगा। यदि अमेरिका अपनी उकसावे वाली गतिविधियों को जारी रखेगा तो हम भी इसका उचित जवाब देंगे।"

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट