बिज़नेस न्यूज़ » Economy » InternationalTrade War: चीन का पलटवार, US से आने वाले 34 अरब डॉलर के गुड्स पर लगाया टैरिफ

Trade War: चीन का पलटवार, US से आने वाले 34 अरब डॉलर के गुड्स पर लगाया टैरिफ

Trade War: अमेरिका द्वारा चीनी गुड्स पर 50 अरब डॉलर का टैरिफ लगाए जाने के कुछ घंटों के भीतर चीन ने तगड़ा पलटवार किया है।

China announces retaliatory tariffs on $34 billion worth of US goods, including agriculture products

Trade War: अमेरिका के बाद चीन के पलटवार से साफ है कि आगे ट्रेड वार और गहरा सकती है... 

 

नई दिल्ली. अमेरिका द्वारा चीनी गुड्स पर 50 अरब डॉलर का टैरिफ लगाए जाने के कुछ घंटों के भीतर चीन ने तगड़ा पलटवार किया है। चीन ने एग्रीकल्चर प्रोडक्ट्स और ऑटोमोबाइल्स जैसे राजनीतिक तौर पर संवेदनशील माने जाने वाले सेक्टर्स के प्रोडक्ट्स पर टैरिफ लगाने का ऐलान किया। चाइनीज स्टेट काउंसिल्स कमीशन ऑन टैरिफ्स एंड कस्टम्स ने एक ऑनलाइन स्टेटमेंट में कहा कि 34 अरब डॉलर के अमेरिकी गुड्स पर 25 फीसदी टैरिफ 6 जुलाई से लागू हो जाएगा। 

 

 

ये प्रोडक्ट्स हैं शामिल
मिनिस्ट्री ऑफ कॉमर्स के मुताबिक, इस लिस्ट में सोयाबीन, इलेक्ट्रिक व्हीकल्स, हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की एक रेंज, सीफूड और पोर्क की कई वैरायटी शामिल हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, चीन के कस्टमस टैरिफ कमिशन ने लगभग 50 अरब डॉलर मूल्य के 659 अमेरिकी उत्पादों पर अतिरिक्त शुल्क लगाने का फैसला किया है। इस फैसले को स्टेट काउंसिल की मंजूरी मिल गई है। आयोग की ओर से जारी बयान के मुताबिक, लगभग 34 अरब डॉलर मूल्य के 545 उत्पादों पर अतिरिक्त शुल्क लगाए गए हैं, जिनमें कृषि उत्पाद, वाहन, जलीय उत्पाद शामिल हैं। यह कदम छह जुलाई 2018 से प्रभावी होगा। हालांकि, बाकी सामानों पर अतिरिक्त शुल्क लगाने की तारीख का बाद में ऐलान किया जाएगा।

 

अमेरिका भी कर चुका है टैरिफ लगाने का ऐलान
इससे पहले शुक्रवार की सुबह अमेरिकी ट्रेड रिप्रेजेंटेटिव ने ऐलान किया था कि अमेरिका शुरुआती तौर 34 अरब डॉलर के 818 चीनी इंपोर्ट पर 25 फीसदी अतिरिक्त टैरिफ लगाएगा, जो 6 जुलाई से लागू होगा। इसके अलावा चीन से आने वाले 16 अरब डॉलर के गुड्स के इंपोर्ट पर ड्यूटी लगाने के फैसले को पब्लिक रिव्यू के लिए रखा जाएगा। यदि मंजूरी मिलती है तो चीनी गुड्स की कुल वर्थ 50 अरब डॉलर हो जाएगी। 
चीन ने इसका तुरंत जवाब दिया। चीन ने 34 अरब डॉलर के अमेरिकी गुड्स पर 25 फीसदी का टैरिफ लगाने का ऐलान किया। इसमें एग्रीकल्चर प्रोडक्ट्स और ऑटोमोबाइल्स भी शामिल हैं, जिन्हें राजनीतिक तौर पर खासा संवेदनशील एरिया माना जाता है। 

 

 

अमेरिका उठा सकता है कई और कदम 
इस फैसले के बाद अमेरिकी सांसद रोजा डेलाउरो ने कहा कि चीनी सामानों के आयात पर अंकुश लगाने के लिए शुल्‍क को महत एक टूल के रूप में देखा जाना चाहिए। अमेरिका कई ऐसे कदम उठा सकता है और व्‍यापार संतुलन को अधिक वाबिज बनाने के लिए चीनी सरकार को बातचीत की मेज पर लाएगा। उन्‍होंने कहा कि हाल में जिस तरह की अव्‍यवस्‍था पैदा हुई उसे जारी नहीं रख सकते हैं और इससे दुनिया में हमारी साख को नुकसान पहुंचने का खतरा है। यही वजह है कि मैं प्रेसिडेंट ट्रम्‍प से एक व्‍यापक रणनीति बनाकर अमेरिकियों के लिए नौकरियों की लड़ाई लड़ें। यह अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था के हित में है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट