Home » Economy » InternationalWorld Bank will recalculate national rankings of ease of doing business

दोबारा होगी ईज ऑफ डुइंग बि‍जनेस रैकिंग की गणना, रोमर ने मांगी माफी

चीफ इकोनॉमिस्‍ट पॉल रोमर ने कहा कि‍ इस रैंकिंग के लि‍ए दोबारा कैलकुलेशन की जाएगी।

World Bank will recalculate national rankings of ease of doing business

वॉशिंगटन. ईज ऑफ डुइंग बि‍जनेस रैंकिंग (EODB) के काम करने के तौर तरीकों पर सवालि‍या नि‍शान लगाते हुए इसके चीफ इकोनॉमिस्‍ट पॉल रोमर ने कहा कि‍ इस रैंकिंग के लि‍ए दोबारा कैलकुलेशन की जाएगी। उन्‍होंने बताया कि‍ चार वर्षों की रैंकिंग दोबारा तैयार की जाएगी। 
इस घोषणा ने वर्ल्‍ड बैंक द्वारा की जाने वाली रैंकिंग को ही कठघरे में खड़ा कर दि‍या है। वॉल स्‍ट्रीट जरनल को दि‍ए एक इंटरव्यू में रोमर ने यह बयान दि‍या है। इस दौरान उन्‍होंने चि‍ली से माफी भी मांगी। इस देश की रैकिंग जो 2014 में 34 थी, 2017 में 57 हो गई। 

 

माफी मांगी 

रोमर ने कहा कि‍ मैं चिली से व्यक्तिगत रूप से माफी मांगता हूं। साथ ही किसी भी अन्य देश से माफी चाहता हूं जहां हमने गलत धारणा बना दी है। रोमर की पिछले चार साल की ईज ऑफ डुइंग बिजनस रैंकिंग की नए सिरे से गणना की घोषणा का भारत पर बड़ा असर पड़ सकता है। भारत की रैंकिंग 2014 के 140 से उछलकर 2018 में 100 पर पहुंच गई। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट के साथ जो समस्या है, वह मेरी गलती है क्योंकि हम चीजों को अधिक स्पष्ट नहीं कर पाए। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट