विज्ञापन
Home » Economy » InternationalWorld Bank suspends 200 million dollar pakistan water development project

अब पाकिस्तान को विश्व बैंक ने दिया बड़ा झटका, 20 करोड़ डॉलर की परियोजना बाधित

जल परियोजना के कार्य में प्रगति न होने पर लिया फैसला

World Bank suspends 200 million dollar pakistan water development project

World Bank suspends 200 million dollar pakistan water development project: विश्व बैंक ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान स्थित जल संसाधन परियोजना के लिए 20 करोड़ अमेरिकी डॉलर के कर्ज को स्थगित कर दिया है। विश्व बैंक की प्रवक्ता मरियम अल्ताफ ने रविवार को बताया कि इस परियोजना के स्थगित होने की मूल वजह प्रगति तथा नियंत्रण में कमी है। 

नई दिल्ली। विश्व बैंक ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान स्थित जल संसाधन परियोजना के लिए 20 करोड़ अमेरिकी डॉलर के कर्ज को स्थगित कर दिया है। विश्व बैंक की प्रवक्ता मरियम अल्ताफ ने रविवार को बताया कि इस परियोजना के स्थगित होने की मूल वजह प्रगति तथा नियंत्रण में कमी है। उन्होंने बताया कि फिलहाल, इस परियोजना को 30 दिनों के लिए निलंबित कर दिया गया है।

कार्य आगे नहीं बढ़ने पर लिया फैसला
बलूचिस्तान एकीकृत जल संसाधन प्रबंधन और विकास परियोजना पर तीन साल पहले हस्ताक्षर किए गए थे। बैंक ने इस परियोजना की 20 करोड़ 97 लाख डॉलर की अनुमानित लागत में से 20 करोड़ डॉलर को कवर करने के लिए प्रतिबद्धता जाहिर की थी। अरब न्यूज के मुताबिक बैंक ने इससे पहले एक बयान में कहा कि दुर्भाग्य से, तब से परियोजना के प्रबंधन में प्रगति, निधियों के वितरण, नागरिक कार्यों के साथ आगे बढ़ना और नियंत्रण में कमी पाई गई है। बयान में कहा गया है कि विश्व बैंक ने आज परियोजना को स्थगित कर दिया है और अगले 30 दिनों तक बलूचिस्तान सरकार के साथ काम करने की पेशकश की है ताकि गुंजाइश तथा शासन व्यवस्था को और अधिक वास्तविक रूप से पुनर्गठन कर प्रांत को स्थायी जल प्रबंधन दिया जा सके।

अक्टूबर 2022 में पूरी होनी थी परियोजना
यह परियोजना अक्टूबर 2022 में पूरी होने वाली है और इसका उद्देश्य बलूचिस्तान में लक्षित सिंचाई योजनाओं के लिए जल संसाधन निगरानी और प्रबंधन के लिए प्रांतीय सरकारी क्षमता को मजबूत करना और समुदाय आधारित जल प्रबंधन में सुधार करना है। मुख्यमंत्री जाम कमाल खान के प्रवक्ता अजीम काकर ने परियोजना के स्थगन पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। क्वेटा स्थित विकास विशेषज्ञ अदनान आमिर ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसके लिए प्रांतीय सरकारी तंत्र को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया। बलूचिस्तान प्रांत को पाकिस्तान में सबसे खराब स्वास्थ्य सूचक माना जाता है। लगभग 62 प्रतिशत आबादी के पास पीने के लिए स्वच्छ पानी तक पहुंच नहीं है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन