विज्ञापन
Home » Economy » InternationalVenezuela Under Critical Economic Crisis, Hunger And Illness Killing People

70 पैसे लीटर पेट्रोल बेचने वाले देश में पानी बिकता है 28 रुपए प्रति लीटर, अमेरिका की नजर यहां के तेल के भंडार पर

इस साल फरवरी में यहां दूध बिक रहा था 5000 रुपए लीटर

1 of

नई दिल्ली. 
दक्षिणी अमेरिकी देश वेनेजुएला में इन दिनों लोगों की हालत बद से बदतर होती जा रही है। यहां गरीबी की मार पड़ रही है। आलम यह है कि 3.2 करोड़ की आबादी बिजली, पानी से लेकर खाने के संकट से जूझ रही है। देश के सभी 23 राज्यों की बिजली गुल है। इस देश में पानी 28 रुपए लीटर के भाव बिक रहा है, जबकि फरवरी में दूध के दाम 5 हजार रुपए लीटर थे। आलू 17 हजार रुपए किलो था और पेट्रोल महज 70 पैसे प्रति लीटर बिक रहा था। यह देश अब दूसरे देशों की दया पर चल रहा है। नौ लैटिन अमेरिकी देश वेनेजुएला के लोगों का पलायन रोकने के लिए फंड जुटाने की तैयारी में हैं। 

 

दो राष्ट्रपतियों ने किया देश को बदहाल

वेनेजुएला में निर्वाचित राष्ट्रपति निकोलस मादुरो और खुद को राष्ट्रपति घोषित करने वाले विपक्ष के नेता जुआन गुइदो के बीच 11 महीने से राजनीतिक टकराव चल रहा है। इसके चलते देश की हालत बदहाल हो गई है। पिछले 34 दिनों में 5 बार ब्लैक आउट हो चुका है। बिजली नहीं होने से पानी के पंप काम नहीं कर रहे हैं। इससे पांच लीटर पानी के लिए लोगों को 140 रुपए खर्चने पड़ रहे हैं। देश में बिजली न होने से अस्पतालों में ऑपरेशन नहीं हो पा रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक वेनेजुएला में 80 दिनों में भुखमरी और इलाज के अभाव में 45 लोगों की मौत हो चुकी है। 

 

यह भी पढ़ें- स्मृति ईरानी की महिलाओं के लिए ये 10 योजनाएं राहुल गांधी पर पड़ सकती हैं भारी 

मुश्किल में देश की अर्थव्यवस्था 

खाने-पीने की चीजों की इतनी कमी है कि लोग लूट-पाट कर रहे हैं। अब तक करीबन 1200 बिजनेस सेंटर लूटे जा चुके हैं। यह भी तब जब लोगों की औसत आमदनी सिर्फ 14 रुपए है। यहां कार्ड पेमेंट मशीनें काम नहीं कर रही हैं। खाने-पीने की चीजें खरीदना मुश्किल हो गया है। अर्थव्यवस्था को रोज 1400 करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है। 

 

यह भी पढ़ें- लाखों रुपए नहीं, सिर्फ 5-10 हजार लगाकर शुरू कर सकते हैं अपना बिजनेस, होगी तगड़ी कमाई

वेनेजुएला को लेकर दो धड़ों में बंटे देश

अमेरिका, ब्राजील, कनाडा और कोलंबिया सहित करीब 50 देशों को गुइदो का समर्थन है। अमेरिका ने चेतावनीन दी है कि अगर गुइदो को गिरफतार किया गया तो इसके नतीजे गंभीर होंगे। अमेरिका की नजर, दरअसल वेनेजुएला के तेल के भंडार पर है। मौजुदा और पिछली सरकारों ने अमेरिका का समर्थन नहीं किया, इससे अमेरिका ने वेनेजुएला पर कई आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए। वहीं रूस, चीन और मैक्सिको सहित करीब 10 देश मादुरो के साथ हैं। रूस ने वेनेजुएला को 1.5 लाख करोड़ का कर्ज और सैन्य मदद भी दी है। 


यह भी पढ़ें- 7 हजार करोड़ लेकर दरवाजे पर खड़ी थी जापानी कंपनी, लेकिन भारतीय ने किया इनकार

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन