Home » Economy » InternationalUAE to tow Antarctic icebergs for water need by early 2020

बर्फ का पहाड़ खींचकर अपने तट पर ला रहे हैं शेख खलीफा बि‍न जायद, 399 करोड़ का है प्रोजेक्‍ट

UAE ताजे पाने की अपनी जरूरतों को पूरा करने की अलग-अलग संभावनाओं पर विचार कर रहा है।

1 of

दुबई. पानी की कि‍ल्‍लत दूर करने के लि‍ए खाड़ी मुल्‍क संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) एक नायाब प्रोजेक्‍ट पर काम कर रहा है। इसके तहत अंटार्कटि‍का से बर्फ के पहाड़ को खींचकर यूएई के समुद्र तट पर लाया जाएगा। इस प्रोजेक्‍ट की लागत 5 से 6 करोड़ डॉलर यानी करीब 399 करोड़ रुपए आंकी गई है। वर्ष 2019 की पहली छमाही में ऑस्‍ट्रेलि‍या के पर्थ के समुद्र तट या दक्षि‍ण अफ्रीका के केपटाउन के समुद्र तट से पायलट प्रोजेक्‍ट शुरू होने की उम्‍मीद है। संयुक्‍त अरब अमीरात के राष्‍ट्रपति का नाम शेख खलीफा बि‍न जायद अल-लाहयान है। 

2020 की है तैयारी 
अमीरात की न्‍यूज एजेंसी WAM के मुताबि‍क, नेशनल एडवाइजर ब्‍यूरो लि‍मि‍टेड ने इस प्रोजेक्‍ट को सामने रखा था। इसके तहत वर्ष 2020 की पहली ति‍माही में अंटार्कटि‍का से बर्फ का पहाड़ लेकर उसे यूएर्इ के समुद्र तट तक लाया जाएगा।

 

आगे भी पढ़ें 
 

नहीं गलेगी बर्फ 
कंपनी फिलहाल ऐसी नायाब तकनीक डेवलप कर रही है, जि‍सकी बदौलत प्रोजेक्‍ट की लागत कम हो जाएगी और बर्फ को इतनी दूर तक खींचकर लाने के दौरान जरा भी बर्फ पिघलेगी नहीं। बर्फ को पानी के रास्‍ते ही लाया जाएगा। इस प्रोजेक्‍ट का जिक्र वर्ष 2017 में भी हुआ था। दरअसल संयुक्‍त अरब अमीरात ताजे पाने की अपनी जरूरतों को पूरा करने की अलग अलग संभावनाओं पर विचार कर रहा है। 

 

आगे पढ़ें 

 

डेवलप होगा ग्‍लेशि‍यर टूरि‍ज्‍म 
यह काम जि‍स कंपनी को सौंपा गया है, उसने इस प्रोजेक्‍ट से जुड़ी सभी जानकारि‍यां साझा करने के लि‍ए एक वेबसाइट शुरू की है। WAM का कहना है कि यह प्रोजेक्‍ट यूएई को 'ग्‍लेशि‍यर टूरिज्‍म मैप' पर जगह दि‍ला देगा। यह ऐसा पहला रेगिस्‍तानी मुल्‍क होगा जो अपने समुद्र तट पर ग्‍लेशि‍यर टूरि‍ज्‍म ऑफर कर सकेगा। इसकेे लिए लोगों को उत्‍तरी या दक्षि‍णी ध्रुव नहीं जाना होगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट