बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalट्रंप ने टफ कर दी अमेरि‍का में चीनी माल की एंट्री, 7 दि‍नों में दि‍ए 3 बड़े झटके

ट्रंप ने टफ कर दी अमेरि‍का में चीनी माल की एंट्री, 7 दि‍नों में दि‍ए 3 बड़े झटके

ट्रंप ने ताजा झटका चीन के सोलर और वाशिंग मशीन कारोबार को दि‍या है।

1 of

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने चंद दि‍नों पहले चीन के खि‍लाफ जि‍स कारोबारी जंग का एलान कि‍या था, उसमें अब वह पूरी तरह से कूद गए हैं। महज कुछ ही दि‍नों में अमेरि‍का ने चीन को एक के बाद एक तीन जोरदार झटके दि‍ए हैं। ट्रंप ने ताजा झटका चीन के सोलर और वाशिंग मशीन कारोबार को दि‍या है।

 

अमेरि‍की राष्‍ट्रपति‍ ने वहां से आने वाले सोलर सेल और वाशिंग मशीन पर भारी टैक्‍स  लगा दि‍या है। दरअसल चीन अपने कारोबारि‍यों को भारी सब्‍सि‍डी देता है, जि‍सकी बदौलत उसके प्रोडक्‍ट काफी सस्‍ते हो जाते हैं और उनकी वजह से अमेरि‍का के कारोबारि‍यों का काम चौपट हो जाता है क्‍योंकि‍ घरेलू सामान की बजाए चीन से आना वाला माल सस्‍ता पड़ता है। 


महज 1 सप्‍ताह के भीतर अमेरि‍का ने चीन को ये तीसरा झटका दि‍या है। इससे पहले चीन की हरकतों से तंग आकर अमेरि‍का ने चीन से आने वाले स्टेनलैस स्टील के फ्लेंज और बारीक डेनियर पॉलिएस्टर स्टेपल फाइबर पर एंटी-डंपिंग ड्यूटी लगा दी थी। इस घोषणा से महज दो-तीन पहले ट्रंप ने एलान कि‍या था कि वह चीन पर बड़ा जुर्माना लगाने पर वि‍चार कर रहे हैं। यह जुर्माना बौद्धिक संपदा की चोरी के लि‍ए लगाया जाएगा। 

 

संबंधि‍त - तीन दि‍न में चीन को लगे 3 इंटरनेशनल झटके 


कमीशन ने की जांच पड़ताल

यूएस ट्रेड रीप्रेजेंटेटिव्‍स (USTR)  ने इसकी सिफारि‍श अमेरि‍की राष्‍ट्रपति से की थी। इसमें कहा गया था कि चीन से आने वाले सोलर उत्‍पाद और वाशिंग मशीनों की वजह से घरेलू कारोबारि‍यों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। USTR के अधि‍कारी रॉबर्ट लाइटजर ने कहा कि इस मुद्दे को अमेरि‍की कारोबारि‍यों ने उठाया और इंटरनेशन ट्रेड कमीशन, ITC ने कई महीनों तक इसकी जांच पड़ताल की। कमीशन ने पाया कि चीन से आने वाले प्रोडक्‍ट की वजह से अमेरि‍की कंपनि‍यों को काफी नुकसान हो रहा था। इसी आधार पर राष्‍ट्रपति के सामने कई सुझाव रखे गए। आगे पढ़ें कि‍तना टैरिफ लगाया 

 


 

लगेगा टैरि‍फ  

अपनी पड़ताल में ITC ने पाया कि 2012 से लेकर 2016 के बीच बड़े घरेलू वाशर्स के इंपोर्ट में तेजी से इजाफा हुआ और घरेलू कंपनि‍यों की फाइनेंशि‍यल परफॉर्मेंस तेजी से गि‍री। इसे देखते हुए यह फैसला लि‍या गया है। चीन से आने वाले इन दोनों प्रोडक्‍ट पर पहले साल 30 फीसदी, दूसरे साल 25 फीसदी और तीसरे साल 20 फीसदी और चौथे साल 15 फीसदी की दर से टैक्‍स लगाया जाएगा। हालांकि इन चारों वर्षों में सबसे पहले इंपोर्ट होकर आने वाले 2.5 गीगावाट्स के सोलर सेल पर ये टैक्‍स नहीं लगाया जाएगा। 

 

Get Latest Update on Budget 2018 in Hindi

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट