विज्ञापन
Home » Economy » Internationalpakistan increases price of petrol diesel prices

बदहाल पाकिस्तान अब अपने नागरिकों की जेब काटकर करेगा कमाई, पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाए

पाकिस्तानी निवेशकों ने दो दिनों में 9,41,294 डॉलर के शेयर बेचे

pakistan increases price of petrol diesel prices

पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था काफी खराब दौर से गुजर रही है। इस समस्या से निकलने के लिए इमरान खान सरकार ने गुरुवार को पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में काफी बढ़ोतरी की। इमरान खान सरकार ने पेट्रोल, डीजल और केरोसिन के दामों में काफी इजाफा किया। पाकिस्तान ने पेट्रोल के दामों में 2.76 फीसदी की बढ़ोतरी की, वहीं डीजल की कीमतों में 4.45 फीसदी और केरोसिन की कीमतों में 4.85 और लाइट डीजल की कीमतों में 3.33 फीसदी की बढ़ोतरी की गई। बता दें कि पाकिस्तान में 1 लीटर पेट्रोल की कीमत 92.88 रुपए पहुंच चुकी है। वहीं डीजल का दाम 111.43 रुपये प्रति लीटर और केरोसिन 86.31 प्रति लीटर हो गया है।

नई दिल्ली। पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था काफी खराब दौर से गुजर रही है। इस समस्या से निकलने के लिए इमरान खान सरकार ने गुरुवार को पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में काफी बढ़ोतरी की। इमरान खान सरकार ने पेट्रोल, डीजल और केरोसिन के दामों में काफी इजाफा किया। पाकिस्तान ने पेट्रोल के दामों में 2.76 फीसदी की बढ़ोतरी की, वहीं डीजल की कीमतों में 4.45 फीसदी और केरोसिन की कीमतों में 4.85 और लाइट डीजल की कीमतों में 3.33 फीसदी की बढ़ोतरी की गई। बता दें कि पाकिस्तान में 1 लीटर पेट्रोल की कीमत 92.88 रुपए पहुंच चुकी है। वहीं डीजल का दाम 111.43 रुपये प्रति लीटर और केरोसिन 86.31 प्रति लीटर हो गया है। इसके साथ ही लाइट डीजल की कीमत अब 77.53 रुपये प्रति लीटर हो गया है। पाकिस्तान में सभी पेट्रोलियम उत्पादों पर 17 फीसदी जीएसटी लगाया जाता है इसके साथ ही पेट्रोल पर 14 रुपये, डीजल पर 18 रुपये, केरोसिन पर छह रुपये और लाइट डीजल पर तीन रुपये टैक्स के तौर पर अतिरिक्त वसूलता है।

 

बैंक भी विदेशी निवेशकों को डॉलर में भुगतान कर रहे हैं


भारत से युद्ध की आशंका के चलते पाकिस्तान का विदेशी निवेशक अपना पैसा निकाल रहे हैं। जिसके चलते डॉलर की मांग काफी बढ़ गई है। रुपए की कीमत लगातार गिरने से बैंक भी विदेशी निवेशकों को डॉलर में भुगतान कर रहे हैं। स्थिति यह हो गई है कि पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार गिरता जा रहा है। देश में पेट्रोल-डीजल की मांग को पूरा करने के लिए डॉलर में कच्चा तेल खरीदने की नौबत आ गई है।

 

पाकिस्तानी निवेशकों ने दो दिनों में 9,41,294 डॉलर के शेयर बेचे


अभी कच्चा तेल 65 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा है। अगर 10 दिन तक कच्चे तेल की कीमतों में उछाल बना रहा तो फिर रुपया 142 रुपये प्रति डॉलर तक गिर सकता है। इससे पाकिस्तान की हालत और गंभीर हो सकती है। इसके अलावा पाकिस्तानी निवेशकों ने पिछले दो दिन में 9,41,294 डॉलर के शेयर बेच दिए हैं। इसके चलते कारोबारियों ने कुछ देर के लिए पूरी तरह से विनिमियन व्यापार को रोक दिया था। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन