Advertisement
Home » Economy » InternationalNow you can get job in foreign by registering on this portal

विदेश में करना चाहते हैं नौकरी तो इस सरकारी पोर्टल पर कराएं रजिस्ट्रेशन, 1.6 लाख विदेशी इंप्लायर हैं इस पोर्टल पर

अब तक 20 लाख से अधिक उत्प्रवास स्वीकृति जारी

Now you can get job in foreign by registering on this portal

नई दिल्ली। अगर आप विदेश में नौकरी करना चाहते हैं तो इधर-उधर भटकने के बजाए विदेश मंत्रालय के ई-माइग्रेट पोर्टल पर जाकर अपनी जानकारी अपलोड कर सकते हैं। यहां आने से आपको विदेश में नौकरी के लिए किसी एजेंट का मोहताज नहीं होना पड़ेगा और न ही आप किसी गलत एजेंट के शिकार हो पाएंगे। विदेश मंत्रालय के मुताबिक, ई-माइग्रेट पोर्टल एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जो ईसीआर देशों में श्रमिकों की भर्ती में शामिल सभी हितधारकों को साथ लाता है। मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक, इसकी शुरुआत से अब तक 20 लाख से अधिक उत्प्रवास स्वीकृति (ईसी) जारी की गई है। इस पोर्टल पर लगभग 1300  भर्ती एजेंट और लगभग 1,60,000 विदेशी नियोक्ता पंजीकृत हैं। ईसीआर श्रेणी के कामगारों के पासपोर्ट ब्यौरों का सत्यापन करने के लिए इस पोर्टल को पासपोर्ट सेवा परियोजना (पीएसपी) से जोड़ दिया गया है। इस प्रणाली को आप्रवासन ब्यूरो से भी जोड़ दिया गया है।

 

विदेश जाने से पहले ट्रेनिंग भी
विदेश मंत्रालय के मुताबिक नौकरी के लिए विदेश जाने वालों को सरकार की तरफ से ट्रनिंग भी दी जाती है। मंत्रालय के मुताबिक, इस वर्ष की शुरुआत से खाड़ी क्षेत्र में जाने वाले कामगारों के लिए एक-दिवसीय प्रस्थान-पूर्व अभिमुखीकरण प्रशिक्षण (पीडीओटी) की शुरुआत की गई है। अब तक 30,000 से अधिक कामगारों को एक-दिवसीय पीडीओटी प्रदान किया गया है। वर्तमान में, दिल्ली और मुंबई प्रत्येक में दो-दो केंद्र और कोच्चि में एक केंद्र कार्यरत हैं।


महिला की न्यूनतम उम्र 30 साल होनी चाहिए
विदेश मंत्रालय के मौजूदा दिशा-निर्देशों के अनुसार, ईसीआर देशों में प्रवासी रोजगार हेतु जाने वाली ईसीआर श्रेणी की महिला कामगारों की न्यूनतम आयु 30 वर्ष है। प्रवासी रोजगार हेतु उनका उत्प्रवास केवल राज्य द्वारा संचालित सात एक्रीडेटेड भर्ती एजेंसियों या ई-माइग्रेट प्रणाली पर पंजीकृत विदेशी नियोक्ता के माध्यम से ही किए जाने की अनुमति है। विदेशी नियोक्ता द्वारा सीधी भर्ती किए जाने के मामले में उत्प्रवास संरक्षी कार्यालय द्वारा उत्प्रवास स्वीकृति प्रदान किए जाने से पहले गंतव्य देश में स्थित भारतीय मिशन द्वारा कार्य संविदा का सत्यापन और 2500 अमरीकी डालर की बैंक गारंटी जमा कराना अनिवार्य है।

 

पीबीएसके से ले सकते हैं सहायता
प्रवासी कामगार नई दिल्ली  स्थित प्रवासी भारतीय सहायता केंद्र (पीबीएसके) से सहायता ले सकते हैं और अपनी शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं जो अलग-अलग भारतीय भाषा में 24X7 सहायता प्रदान करता है। इसके अतिरिक्त, कोच्चि, हैदराबाद, दिल्ली, चेन्नई और लखनऊ में क्षेत्रीय प्रवासी सहायता केंद्र हैं। विदेशों में, रियाद, जेद्दा, दुबई, शारजाह और क्वालालम्पुर में भी पीबीएसके कार्य कर रहे हैं। दूतावासों में टोल-फ्री हेल्पलाइन भी उपलब्ध है जो नियमित आधार पर ओपन हाउसेज का आयोजन भी करते हैं। शेल्टर होम की भी स्थापना की गई है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss