बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalजिस इराकी कंपनी में काम करते थे 39 भारतीय, जानिए उसका पूरा चिट्ठा

जिस इराकी कंपनी में काम करते थे 39 भारतीय, जानिए उसका पूरा चिट्ठा

जून 2014 में इराक के मोसुल शहर में आतंकी संगठन आईएसआईएस ने कम से कम 40 भारतीयों का अपहरण किया था...

1 of

नई दिल्‍ली। इराक में 2014 में आईएसआईएस की ओर से अगवा किए गए 39 भारतीयों की मौत हो गई है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने खुद इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि हत्या के बाद जमीन में दफनाए गए सभी शवों को डीप पेनिट्रेशन राडार के जरिए खोज लिया गया है। शवों को बाहर निकालकर उनका डीएनए टेस्ट भी किया गया है। इसके बाद जाकर इन भारतीयों की हत्‍या की पुष्टि हो सकी है। 

 

बता दें कि जून 2014 में इराक के मोसुल शहर में आतंकी संगठन आईएसआईएस ने कम से कम 40 भारतीयों का अपहरण किया था। इनमें से एक व्यक्ति खुद को बांग्लादेशी मुस्लिम बता कर बच निकला। बाकी 39 भारतीयों को बदूश ले जा कर मार डाला गया था। बदूश शहर से ही भारतीयों के शव बरामद किए गए हैं।   

 

 

कंस्‍ट्रक्‍शन कंपनी के लिए काम करते थे ये भारतीय 
जिन सभी 40 भारतीयों को आईएस ने अगवा किया था, वे सभी इराक बेस्‍ड कंस्‍ट्रक्‍शन कंपनी के लिए काम करते थे। जिस समय आईएसआईएस ने हमला किया, उस समय ये सभी मोसुल की एक कंस्‍ट्रक्‍शन साइट पर आपनी सेवाएं दे रहे थे। इस कंपनी का पूरा नाम तारिक नूर अल हुदा है। यह कन्‍स्‍ट्रक्‍शन के अलावा ट्रेडिंग और पेट्रोल सर्विस में भी है। 


 

 

6 अरब डॉलर की है कंपनी 
कंपनी की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, यह इराक की रजिस्‍टर्ड कंपनी है। इसकी शुरुआत 1996 में पेशे से इंजीनियर हैदर अल अवाजी ने की थी। इसे पहला प्रोजेक्‍ट बगदाद स्थित कॉमर्शियल सेंटर के कंस्‍ट्रक्‍शन का मिला था। वेबसाइट के मुताबिक, कंपनी 6 अरब इराकी दिनार के कैपिटल अमाउंट के साथ रजिस्‍टर हुई थी। 

 

 

मोसुल शहर में किया भारी कंस्‍ट्रक्‍शन 
जिस मोसुल शहर से 40 भारतीयों को अगवा किया गया, उस शहर में इस कंपनी ने कंस्‍ट्रक्शन से जुड़े बहुत से काम अंजाम दिए हैं। कंपनी ने यहां 2011 में करीब 87,776 अरब दिनार की मदद से 1000 फ्लैट्य की पूरी कॉलोनी का निर्माण किया। इसमें इलेक्ट्रिक स्‍टेशन के साथ सीवेज स्‍टेशन, वॉटर सप्‍लाई, मॉल, मस्जिद, स्‍कूल, सड़क, स्‍पोर्ट्स स्‍टेडियम के साथ इंटरनेट और टेलिफोन नेटवर्क डेवलप करने जैसे काम भी शामिल थे। इसका अलावा कंपनी पवित्र शहर कर्बला में कई सड़कों और मस्जिद का निर्माण कर चुकी है।   

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट