Home » Economy » InternationalJapan will open up its doors for Indians

2 लाख भारतीयों को तुरंत जॉब और ग्रीन कार्ड दे रहा है जापान, आप भी करें ट्राई

जापान न केवल प्रोजेक्‍ट में भारत की मदद कर रहा है बल्‍कि‍ वह भारतीय युवाओं की कि‍स्‍मत चमकाने में भी जुट गया है।

1 of
बंगलुरु। तकनीक के क्षेत्र में अग्रणी मुल्‍क जापान न केवल विभि‍न्‍न प्रोजेक्‍ट में भारत की मदद कर रहा है बल्‍कि‍ वह भारतीय युवाओं की कि‍स्‍मत चमकाने में भी जुट गया है। जापान ने 2 लाख भारतीयों को नौकरी देने का वादा कि‍या है। जापान इंटरनेशनल ट्रेड ऑर्गनाइजेशन, जेट्रो (JETRO) के वाइस प्रजिडेंट शिगेई माइदा ने खुद इस बात की घोषणा की है। उन्‍होंने कहा कि‍ जापान दो लाख भारतीय आईटी पेशेवरों के लि‍ए दरवाजे खोलेगा। इन लोगों को ग्रीन कार्ड दि‍ए जाएंगे, यानी ये वहां सेटल हो सकेंगे। जापान में आईटी इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर बहुत तेजी से बढ़ रहा है ऐसे में उन्‍हें बड़ी संख्‍या में जवान और तकनीकी जानकार लोगों की जरूरत है। इस देश के साथ हमारे भी संबंध काफी अच्‍छे है। इसलि‍ए वहां की सरकार ने भारतीयों को मौका देने का फैसला कि‍या है। आगे पढ़ें तुरंत है जरूरत 

तुरंत चाहि‍ए 2 लाख पेशेवर 
बंगलुरु में भारत-जापान बि‍जनेस पार्टनरशिप सेमिनार के दौरान शिगेई ने कहा कि अभी जापान में तकरीबन 9 लाख 20 हजार आईटी पेशेवर हैं और हमें भारत से तुरंत 2  लाख आईटी पेशेवर चाहि‍एं। वर्ष 2030 तक यह मांग बढ़कर 8 लाख आईटी पेशेवरों तक पहुंच जाएगी। इस सेमि‍नार का आयोजन बंगलुरु चैंबर ऑफ इंडस्‍ट्री एंड कॉमर्स व जेट्रो ने मि‍लकर कि‍या।  आगे पढ़ें - साल के भीतर ग्रीन कार्ड 

 

12 महीने के भीतर कार्ड 
उन्‍होंने कहा कि जापान मैन्‍युफैक्‍चरिंग में नई तकनीकों को अपना भी रहा है और उनका अवि‍ष्‍कार भी कर रहा है। जापानी सरकार काबि‍ल आईटी पेशेवरों को ग्रीन कार्ड जारी करेगी। दुनि‍या में ऐसा पहली बार हो रहा है। यह लोग यहां के स्‍थाई नि‍वासी के तौर पर काम कर सकेंगे। महज 1 साल के भीतर ही इन्‍हें स्थाई नि‍वासी का दर्जा दे दि‍या जाएगा। दुनि‍या में अब तक ऐसा पहले कभी और कहीं नहीं हुआ। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss