Home » Economy » Internationalवॉरेन बफे के एक दिन/24 घंटे में डूबे 32 हजार करोड़/ 5.1 अरब डॉलर/ Warren Buffet lost 5.1 Billion in Wall Street Crash

देखते ही देखते वॉरेन बफे के डूबे 32 हजार करोड़, भारी पड़ा अपना ही फॉर्मूला

कहावत है, जितनी ऊंचाई से गिरेंगे, चोट भी उतनी ही गहरी लगेगी। ऐसा ही हुआ है, दूसरे के तीसरे सबसे अमीर वॉरेन बफे के साथ..

1 of

नई दिल्‍ली। एक कहावत है, आप जितनी ऊंचाई पर होंगे, गिरने पर चोट भी उतनी ही तेज लगेगी। ऐसा ही कुछ हुआ है, दूसरे के तीसरे सबसे अमीर वॉरेन बफे के साथ। दरअसल हाल में अमेरिकी शेयर मार्केट में आई भारी गिरावट के चलते वॉरेन बफे के एक दिन में एक या 2 करोड़ नहीं बल्कि 500 करोड़ डॉलर डूब गए। भारतीय रुपए में मौजूदा के 64.14 के भाव के हिसाब से देखें तो यह राशि करीब 32 हजार करोड़ रुपए ठहरती हैं। 

 

पतंजिल की टोटल वैल्‍यू से ज्‍यादा नुकसान 
वॉरेन बफे को जितना नुकसान हुआ वह रामदेव की पंतजलि के मौजूदा 10 हजार करोड़ के टर्नओवर से भी करीब 3 गुना ज्‍यादा है। अमेरिकी शेयर मार्केट आए इस भूचाल में हजारों करोड़ की वेल्‍थ गंवाने वाले वॉरेफ बफे अकेले नहीं है। इस आंधी में दुनिया के सबसे अमीर और अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोश के 22 हजार करोड़ डूबे। इसी तरह लंबे समय तक दुनिया के सबसे अमीर शख्‍स रहे बिले गेट्स और फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग को भी नुकसान उठाना पड़ा है 

 

इनपुट: cnbc डॉट कॉम 

 

 

 

5 फरवरी को अमेरिकी मार्केट में आया भूचाल 
अमेरिका मार्केट में यह भूचाल 5 फरवरी को आया था। इस दिन न्‍यूयॉर्क स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी डाओजोंस में 1165 अंकों की ऐतिहासिक गिरावट दर्ज की गई थी। इससे ठीक पहले के कारोबारी दिन में मार्केट करीब 600 अंक टूटा था। हालांकि 5 फरवरी की गिरावट ऐतिहासिक थी। यह 2008 में आई मंदी के बाद की सबसे बड़ी गिरावट थी। इस गिरावट के बाद भारत में बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज  (बीएसई) में करीब 1365 अंकों की गिरावट देखी गई थी। जो बीएसई की 8वीं ऐतिहासिक गिरावट थी।     

 

 

इसलिए हुई गिरावट 
इस गिरावट की मुख्‍य वजह अमेरिका के केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व द्वारा ब्‍याज दरें बढ़ाने की की आशंका थी। अमेरिका की कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया था कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रम्‍प की प्रोटेक्‍सनिज्‍म पॉलिसी को इन्‍डोर्स करते हुए फेडरल रिजर्व आगे भी ब्‍याज दरें बढ़ा सकता है। इसके चलते लोग स्‍टॉक मार्केट से पैसा निकालने लगे।  इन्‍वेस्‍टर्स को लगने लगा कि स्‍टॉक मार्केट के मुकाबले बॉन्‍ड यील्‍ड फायदे का सौदा है। इसके चलते अमेरिकी स्‍टॉक मार्केट तेजी के साथ गिरा। 

 

 

किस अमीर को कितना हुआ नुकसान 

जेफ बेजोस-  22 हजार करोड़ 
बिल गेट्स-  14 हजार करोड़
वॉरेन बफे- 32 हजार करोड़
मार्क जुकरबर्ग- 23 हजार करोड़ 
लैरी पेज- 14 हजार करोड़ 
सर्गेई बिन- 14 हजार करोड़ 

 

 

सबसे ज्‍यादा नुकसान बफे को ही क्‍यों 
दरअसल दुनिया के टॉप अमीरों में वॉरेफ बफे ही ऐसे अमीर हैं, जो पैसे से पैसा बनाते हैं। उनकी कंपनी बर्कशायर हैथवे के पास दुनिया भर की दिग्‍गज कंपनियों में शेयर हैं। ऐसे में बिल गेट्स, जेफ बेजोश या मार्क जुकरबर्ग ही अपनी ही कंपनी के शेयर गिरने का नुकसान हुआ। हालांकि बफे के हर कंपनी के नुकसान का खामियाजा भुगतना पड़ा। मतलब वो जिस फॉर्मूले से पैसा बना रह थे, वही फॉर्मूला उनपर भारी पड़ गया। इसके चलते उनका लॉस सबसे ज्‍यादा रहा। हालांकि जब शेयर मार्केट अपनी रफ्तार पकड़ेगा तो बफे की दौलत भी अन्‍य अमीरों के मुकाबले तेजी के साथ बढ़ेगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट