Home » Economy » Internationalअकेले यूपी डेढ़ साल तक उठा सकता है पाकिस्‍तान का खर्च/up yogi govt budget 2018 highlight update

अकेले यूपी डेढ़ साल तक उठा सकता है पाकिस्‍तान का खर्च, फिर भी करता है हिमाकत

योगी सरकार का बजट राज्‍यों में सबसे बड़ा होने के साथ ही पाकिस्‍तान, बांग्‍लादेश, नेपाल देशों जैसे पड़ोसी से भी बड़ा है

1 of

नई दिल्‍ली। उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍य नाथ सरकार ने वित्‍त वर्ष 2018-19 के लिए राज्‍य का बजट शुक्रवार को पेश कर दिया। यह योगी सरकार का पहला पूर्णकालिक बजट है। पिछला साल चुनावी साल था, इसके चलते सरकार कुछ महीनों का बजट ही पेश कर पाई थी। योगी सरकार का यह बजट कई मायनों में खास है। योगी सरकार के वित्‍त मंत्री राजेश अग्रवाल की ओर से पेश यह बजट 4.28 लाख करोड़ का है। यह देश के किसी भी राज्‍य के बजट के मुकाबले तो सबसे ज्‍यादा है ही, साथ  ही कई पड़ोसी देशों जैसे पाकिस्‍तान, बांग्‍लादेश और नेपाल के मुकाबले भी बड़ा है।  

पाकिस्‍तान से करीब 1.5 गुना बजट 

 

सीमा पर लगातार हरकतें करने वाले भारत के धुर विरोधी पाकिस्‍तान की बात करें तो यूपी का बजट उससे करीब डेढ़ गुना बड़ा है। योगी सरकार चाहे तो डेढ़ साल तक पाकिस्‍तान का भी खर्च चला सकती है। अगले वित्‍त वर्ष के लिए पाकिस्‍तान सरकार का बजट फिलहाल नहीं पेश हुआ है, हालांकि मौजूदा वित्‍त वर्ष के लिए पेश उसका बजट 43 हजार करोड़ डॉलर का था। भारतीय रुपए में इस बजट की वैल्‍यू देखें तो करीब 2.76 लाख करोड़ रुपए ठहरती है। वहीं योगी सरकार का बजट करीब 4.28 लाख करोड़ रुपए का है। अमेरिकी डॉलर में इसकी वैल्‍यू करीब 67 हजार करोड़ डॉलर ठहरती है। मतलब पाकिस्‍तान के 43 हजार करोड़ के बजट से करीब डेढ़ गुना ज्‍यादा। 

 

 

 

बांग्‍लादेश पाकिस्‍तान से भी बड़ा बजट 
पाकिस्‍तान ही नहीं योगी सरकार का बजट कुछ अन्‍य पड़ोसियों से भी ज्‍यादा है। बांग्‍लादेश ने पिछले साल 3 लाख करोड़ रुपए (4 लाख करोड़ रुपए बांग्‍लादेशी टका) का बजट पेश किया था। इसी तरह नेपाल का सालाना बजट मात्र 8 हजार करोड़ रुपए (12.79 हजार करोड़ नेपाली रुपए) का ही है। 

 

 

यूपी बजट की खास बातें 
बजट में शिक्षा, स्वास्थ्य और किसानों का ध्यान रखा गया है। इसके अलावा महिला एवं बाल कल्याण योजना के लिए भी 8,815 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया गया है। इस बार के बजट में 14,341.89 करोड़ रुपए नई योजनाओं के लिए आवंटित किए गए हैं। राज्य के पांच और शहरों में मेट्रो चलाने के लिए 100 करोड़ रुपए का बजट दिया गया है। वहीं राज्य के वित्त मंत्री ने स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के विजेताओं के लिए 3 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss