बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalस्‍टीफन हॉकिंग मौत से केवल 2 हफ्ते पहले दे गए दुनिया खत्म होने की थ्योरी, अंतरिक्ष खोजें करने की भी कही बात

स्‍टीफन हॉकिंग मौत से केवल 2 हफ्ते पहले दे गए दुनिया खत्म होने की थ्योरी, अंतरिक्ष खोजें करने की भी कही बात

इससे पहले की थी 2600 तक पृथ्‍वी के आग का गोला बन जाने की भविष्‍यवाणी

Stephen Hawking theory about the end of the world

नई दिल्‍ली. दुनिया को ब्लैकहोल, सापेक्षता और बिगबैंग थ्योरी समझाने वाले स्‍टीफन हॉंकिंग का निधन 14 मार्च 2018 को हुआ। लेकिन जाते-जाते भी वह दुनिया खत्‍म होने को लेकर नया सिद्धांत दे गए। दरअसल हॉकिंग दुनिया के खत्‍म होने की भविष्‍यवाणी को लेकर एक थ्‍योरी पर काम कर रहे थे। अपनी मौत से केवल दो हफ्ते पहले ही उन्‍होंने इस थ्‍योरी को पूरा किया। 

 

ब्रिटेन के एक अखबार द संडे टाइम्‍स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्‍टीफन हॉकिंग एक मैथामैटिकल पेपर के को-ऑथर (सह-लेखक) थे। इसमें वह मल्‍टीवर्स नामक एक थ्‍योरी को प्रूव करने पर काम कर रहे थे। यह थ्‍योरी हमारी यूनिवर्स के अलावा कई अन्‍य यूनिवर्स की मौजूदगी पर आधारित थी। इस थ्‍योरी पर उनके साथ बेल्जियम की KU लुवेन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर थॉमस हेरटॉग भी काम कर रहे थे।

 

यूं अंधेरे की ओर बढ़ती जाएगी हमारी यूनिवर्स

हॉकिंग के फाइनल वर्क का नाम ए स्‍मूद एक्जिट फ्रॉम एटर्नल इन्‍फ्लेशन है। एक लीडिंग साइंटिफिक जर्नल इसका रिव्‍यू कर रहा है। हॉंकिंग ने इसमें उन्‍होंने भविष्‍यवाणी की है कि कैसे सितारों की एनर्जी खत्‍म होने के साथ हमारी यूनिवर्स अंधेरे की ओर बढ़ती चली जाएगी। 

 

स्‍पेसशिप भेजने का दिया था प्रस्‍ताव

हॉकिंग और हेरटॉग ने अन्‍य यूनिवर्स का पता लगाने के लिए वैज्ञानिकों द्वारा स्‍पेसशिप्‍स के जरिए अंतरिक्ष खोजें करने का प्रस्‍ताव भी रखा था। उनका कहना था कि इससे इंसान अपनी यूनिवर्स को और ज्‍यादा अच्‍छे से समझ सकेंगे, इससे बाहर क्‍या है यह जान सकेंगे और ब्रह्मांड में हमारी जगह क्‍या है इसका पता लगा सकेंगे। 

 

इससे पहले की थी 2600 तक पृथ्‍वी के आग का गोला बन जाने की भविष्‍यवाणी

हेरटॉग ने संडे टाइम्‍स को दिए एक इंटरव्‍यू में कहा कि हॉकिंग पहले से यह भविष्‍यवाणी कर चुके हैं कि 2600 तक पृथ्‍वी आग के एक बड़े गोले में तब्‍दील हो जाएगी। तब इंसानों को या तो किसी दूसरे ग्रह पर बसना होगा या फिर अपने अंत का सामना करना होगा। 

 

एलियंस को सुनने के लिए 2015 में लॉन्‍च किया प्रोजेक्‍ट

एलियंस यानी दूसरे ग्रह पर रहने वाले प्राणियों को सुनने के लिए हाई पावर वाले कंप्‍यूटर्स के इस्‍तेमाल को लेकर एक प्रोजेक्‍ट की लॉन्चिंग के लिए हॉकिंग ने 2015 में रूस के अरबपति यूरी मिलनेर से हाथ मिलाया था। ब्रे‍कथ्रो इनीशिएटिव्‍स के नाम से जाना जाने वाला यह प्रोजेक्‍ट SETI@home को सपोर्ट करता है, जो यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बार्कले का एक साइंटिफिक एक्‍सपेरिमेंट है। इसके तहत कंप्‍यूटर के जरिए आसमान की स्‍कैनिंग कर अन्‍य ग्रहों पर जीवन की खोज की जाती है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट