Home » Economy » InternationalPetroleum Minister will raise India's concerns about rising crude oil prices at OPEC meeting in Vienna

क्रूड के दाम कम रखने के लिए ओपेक देशों पर दबाव बनाएगी मोदी सरकार, वियना में 20-21 जून को मीटिंग

प्रधान 20-21 जून को ओपेक इंटरनेशनल सेमिनार में शामिल होंगे।

Petroleum Minister will raise India's concerns about rising crude oil prices at OPEC meeting in Vienna

नई दिल्‍ली. कच्‍चे तेल (क्रूड) की कीमतों को वाजिब स्‍तर पर रखने का लगातार दबाव बना रही मोदी सरकार अब इस मसले को तेल उत्‍पादक देशों की वियना में होने वाली बैठक में उठाएगी। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान बढ़ती क्रूड कीमतों के बारे में भारत की चिंताओं को वियना में होने वाली बैठक में उठाएंगे। द ऑर्गनाइजेशन ऑफ पेट्रोलियम एक्‍सपोर्टिंग कंट्रीज (ओपीईसी) देशों की इस महीने मीटिंग होने वाली है। प्रधान ने इसकी जानकारी सोमवार को दी। 

 

 

धर्मेंद्र प्रधान ने उद्योग संगठन सीआईआई के एक कॉनक्‍लेव के दौरान अलग से संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वह ओपेक और नॉन-ओपेक उत्‍पादक देशों पर वियना में क्रूड की कीमतों रेग्‍युलेट करने और कीमतें वाजिब और जिम्‍मेदार स्‍तर पर रखने का दबाव बनाएंगे। प्रधान 20-21 जून को ओपेक इंटरनेशनल सेमिनार में शामिल होंगे और ओपेक के महासचिव सानुसी बार्किंदो और 13 देशों वाले गुट के मंत्रियों से प्रमुख मसलों पर चर्चा करेंगे। 

 

ओपेक और नॉन-ओपेक देश उत्‍पादन कटौती टालने पर भी फैसला कर सकते हैं, जिससे क्रूड की कीमतों को काबू में रखने में मदद मिलेगी। प्रधान ने कहा कि हम यह नहीं चाहते कि क्रूड के दाम 25 डॉलर प्रति बैरल पर रहे लेकिन यह अब पहुंच के बाहर जा रह रहा है। यह क्‍यों 55-60 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि वियना में तेल उत्‍पादक देशों में कहूंगा कि यदि तेल की कीमतें रेग्‍युलेट नहीं करते हैं तो हम इलेक्ट्रिक ट्रांसपोर्टेशन, रिन्‍युएबल एनर्जी जैसे वैकल्पिक सोर्स की ओर बढ़ेंगे।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट