Home » Economy » InternationalNomura report says GDP to grow at 7.5 per cent in 2018

2018 में GDP ग्रोथ 7.5% रहने का अनुमान, ब्याज दरों में बदलाव की उम्मीद कम

नोमुरा के हालिया रिपोर्ट के अनुसार देश की इकोनॉमी में जनवरी से मार्च तिमाही में रिकवरी की उम्मीद है।

1 of

नई दिल्ली। जापानी फाइनेंशियल सर्विस मेजर नोमुरा ने भारत की इकोनॉमी पर भरोसा जताया है। नोमुरा के हालिया रिपोर्ट के अनुसार देश की इकोनॉमी में जनवरी से मार्च तिमाही में रिकवरी की उम्मीद है। वहीं, साल 2018 में भारती की इकोनॉमी 7.8 फीसदी रहने का अनुमान भी जताया है। वहीं, नोमुरा ने साल 2018 में नीतिगत दरों में बदलाव न किए जाने की उम्मीद जताई है। 

 

 

ग्लोबल डिमांड में सुधार 
नोमुरा के कंपोजिट लीडिंग इंडेक्स (CLI) के अनुसार देश में नए नोटों को चलन में आने और ग्लोबल डिमांड सुधरने से साल 2017 की चौथी तिमाही यानी अक्टूबर-दिसंबर में इकोनॉमिक ग्रोथ में रिकवरी शुरू हागी जो साल 2018 की पहली तिमाही यानी जनवरी से मार्च 2018 में और मजबूत होगी। 

 

ग्रोथ आउटलुक पर बुलिश 
नोमुरा की रिपोर्ट के अनुसार ग्रोथ आउटलुक को लेकर वह बुलिश है। उम्मीद है कि मौजूदा फाइनेंशियल ईयर की तीसरी तिमाही में 6.3 फीसदी की तुलना में चौथी तिमाही में ग्रोथ रेट 6.7 फीसदी रह सकती है। वहीं, ग्रोथ रेट मजबूत होकर 2018 में  7.5 फीसदी रह सकती है। रिपोर्ट के अनुसार इनफ्लेशन का दबाव बढ़ने और क्रूड की ऊंची कीमतों को देखते हुए मॉनेटरी पॉलिसी को और टाइट किया जा सकता है। 

 

मंहगाई बढ़ने का रिस्क 
बता दें कि मॉनेटरी पॉलिसी की दिसंबर में होने वाली मीटिंग में भी महंगाई बढ़ने का रिस्क बताया गया था, जिसके पीछे क्रूड की कीमतों के अलावा खाने-पीने की चीजें महंगी होने और फिस्कल अनसर्टेनिटी को कारण बताया गया था। नोमुरा ने कहा है कि 2018 की दूसरी तिमाही में मॉनेटरी पॉलिसी कमिटी की ओर से थोड़ा कड़ा रुख देखने को मिल सकता है। उस समय ग्रोथ और इनफ्लेशन दोनों की दरें ऊंची रह सकती हैं। लेकिन उम्मीद है कि 2018 में नीतिगत दरों में बदलाव नहीं होगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट