बिज़नेस न्यूज़ » Economy » International2020-22 के दौरान भारत की GDP ग्रोथ 7.3% रहने का अनुमान: मॉर्गन स्टैनले

2020-22 के दौरान भारत की GDP ग्रोथ 7.3% रहने का अनुमान: मॉर्गन स्टैनले

मॉर्गन स्टैनली के अनुसार 2020-22 के दौरान भारत की जीडीपी ग्रोथ 7.3 फीसदी रहने का अनुमान है।

1 of

नई दिल्ली। ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विस मेजर मॉर्गन स्टैनले ने भारत की अर्थव्यवस्था पर भरोसा जताया है। मॉर्गन स्टैनली के अनुसार 2020-22 के दौरान भारत की जीडीपी ग्रोथ 7.3 फीसदी रहने का अनुमान है। रिपोर्ट के अनुसार मीडियम टर्म के लिहाज से भारत की स्ट्रक्चरल ग्रोथ मजबूत रहेगी।

 

 

रिपोर्ट में कहा गया है कि प्राइवेट कैपेक्स साइकिल में सुधार होगा और इसकी शुरुआत 2018 में होने की उम्मीद है। इससे यह तय होगा कि अर्थव्यवस्था सस्टेंड और प्रोडक्टिव ग्रोथ साइकिल में प्रवेश कर गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि हमारा अनुमान है कि 2020-22 के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था की औसत जीडीपी ग्रोथ रेट 7.3 फीसदी रहेगी। 

 

उत्पादन में होगा सुधार 
रिपोर्ट के अनुसार इसमें कहा गया है कि इससे ओवरआल नीतिगत मोर्चे पर भी सपोर्ट मिलेगा, जिससे प्रोडक्टिविटी में और सुधार होगा। इससे मैक्रो स्टेबिलिटी रिस्क को सीमित रखने में भी मदद मिलेगी। मॉर्गन स्टेनली का अनुमान है कि 2018 में प्राइवेट कैपिटल स्पेंडिंग में सुधार होगा, जिससे अर्थव्यवस्था को भी आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। इससे आगे इकोनॉमिक रिकवरी देखी जाएगी। 

 

कंपनियों की बढ़ेगी अर्निंग 
रिपोर्ट में कहा गया है कि कॉरपोरेट अर्निंग यानी कंपनियों की आय में सुधार होने की उम्मीद है, जिससे उन्हें अपनी बैलेंसशीट मजबूत करने में मदद मिलेगी। साथ ही फाइनेंशियल सिस्टम मजबूत होने से निवेश के लिए इन्वेस्टमेंट क्रेडिट की डिमांड पूरी करने में मदद मिलेगी। रिपोर्ट के अनुसार अनुमान है कि 2017 के 6.4 फीसदी से 2018 में ग्रोथ रेट 7.5 फीसदी पर पहुंच जाएगी और 2019 में यह 7.7 फीसदी पर होगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट