बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalचीन ने इंडिया में घटाया इन्वेस्टमेंट, भारत की जगह सिंगापुर बना फेवरेट

चीन ने इंडिया में घटाया इन्वेस्टमेंट, भारत की जगह सिंगापुर बना फेवरेट

चीन की कंनपियों ने इंडिया में इंन्वेस्टमेंट घटा दिया है। चाइनीज कंपनी सबसे ज्यादा इन्वेस्टमेंट सिंगापुर में करती हैं।

1 of

नई दिल्ली। चीन ने इंडिया में इन्वेस्टमेंट घटा दिया है। इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (ईआईयू) ने 60 देशों की इकोनॉमी पर चीन के इन्वेस्टमेंट पैटर्न को लेकर सर्वे किया जिसमें यह सामने आया है कि चीन की कंपनियों ने इंन्वेस्टमेंट घटा दिया है। चाइनीज कंपनियां सबसे ज्यादा इन्वेस्टमेंट सिंगापुर में करती हैं।

 

 

सिंगापुर रहा टॉप पर

इंडिया चाइनीज इन्वेस्टमेंट लाने के मुहिम में छह पायदान नीचे खिसककर 37वें नंबर पर आ गया है। इस सर्वे में सभी देशों को इन्वेस्टमेंट लाने में रैंकिंग दी गई है। चीन की कंपनियां सबसे ज्यादा इन्वेस्टमेंट सिंगापुर में करती है। वह सर्वे में टॉप पर रहा है। ईआईयू के सर्वे के मुताबिक सिंगापुर ने अमेरिका की जगह ली है जहां चाइनीज कंपनियां सीधे इन्वेस्ट कर रही है। इसके अलावा हांग कांग, मलेशिया, आस्ट्रेलिया ने टॉप फाइव देशों में जगह बनाई है।

 

इंडिया में इन्वेस्टमेंट में आ रहे हैं चैलेंज

ईआईयू की रिपोर्ट के मुताबिक चाइनीज इन्वेस्टर इंडिया में इन्वेस्ट करते समय कई चैलेंज फेस करते हैं लेकिन उसके बावजूद इंडिया में कई मौके है। यहां हुवावेई और श्‍योमी जैसी कंपनी अच्छा बिजनेस कर रही हैं। आगे ई-कॉमर्स सेक्टर में चाइनीज कंपनियों के लिए इंडिया में इन्वेस्ट करने के लिए अच्छा मौका हो सकता है।

 

आगे पढ़ें - चीन और कहां करता है इन्वेस्ट

इन देशों में बढ़ा चीन का इन्वेसटमेंट

चाइनीज कंपनियों के लिए अमेरिका और जापान में इन्वेस्टमेंट के लिए मर्जर और अधिग्रहण के जरिए कई मौके मौजूद है। रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि चीन का इंडिया और इरान जैसे देशों में चीन का इन्वेस्टमेंट तेजी से बढ़ भी रहा है। ब्रिक्स देशों में रूस 11वें और साउथ अफ्रीका 44वें स्थान पर रहा।  ब्राजील 19 स्थान फिसलकर 53वें स्थान पर रहा। इंडियां छह स्थान फिसलकर 37वें स्थान पर रहा। इस इंडेक्स में वर्ल्ड के 60 देशों की इकोनॉमी में चीन के इन्वेस्टमेंट का पैटर्न और मौकों को लेकर सर्वे किया गया है।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट