Home » Economy » Internationalइन कंपनियों में लगा है पाकिस्‍तानियों का पैसा- 5 Indian companies have Pakistani shareholdings

इन कंपनियों में लगा है पाकिस्‍तानियों का पैसा, 26 हजार करोड़ है कीमत

आपको यह जानकर आश्‍चर्य होगा कि भारत में 577 ऐसी कंपनियां भी हैं, जिनमें पाकिस्‍तानी लोगों की हिस्‍सेदारी है

1 of

नई दिल्‍ली। देशभर में फैली करीब 9400 शत्रु संपत्ति (एनमी प्रॉपर्टी) को मोदी सरकार नीलाम करने की तैयारी में है। उम्‍मीद है कि इससे करीब 1 लाख करोड़ रुपए सरकार को मिल सकता है। आपको यह जानकर आश्‍चर्य होगा कि भारत में 577 ऐसी कंपनियां भी हैं, जिनमें पाकिस्‍तानी लोगों की हिस्‍सेदारी है। इसमें से करीब 266 कंपनियां ऐसी हैं जो इंडियन स्‍टॉक एक्‍सचेंज में लिस्‍टेड भी हैं।  साथ ही जिन नॉन लिस्‍टेड कंपनियों में पाकिस्‍तान के लोगों को हिस्‍सेदारी है, उनकी संख्‍या 318 है।   

 

26 सौ करोड़ की हिस्‍सेदारी... 
- मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्‍तानी लोगों की इस हिस्‍सेदारी की निगरानी कस्‍टोडियन ऑफ एनमी प्रॉपर्टी डिपार्टमेंट करता है।
- कस्‍टोडियन के मुताबिक, भारतीय कंपनियों में पाकिस्‍तानी लोगों की कुल हिस्‍सेदारी करीब 40 करोड़ डॉलर है।
-  मौजूदा के 65 रुपए के भाव से इसे कन्‍वर्ट किया जाए तो यह करीब 2600 करोड़ रुपए ठहरता है।
- दरअसल यह हिस्‍सेदारी भारत छोड़कर पाकिस्‍तान गए लोगों की है, जो अब कस्‍टोडियन डिपार्टमेंट के पास है।  
- एक अंग्रेजी अखबार ने कस्‍टोडियन डिपार्टमेंट में यह RTI लगाई थी और इसी के जवाब में यह जानकारी सामने आई है। 
 
टाटा से बिड़ला तक की कंपनियों में हिस्‍सेदारी
- कस्‍टोडियन डिपार्टमेंट पाकिस्‍तान गए जिन लोगों की हिस्‍सेदार रखता है, उसमें टाटा से लेकर बिड़ला तक के नाम शामिल हैं।
- टाटा की शेयर होल्डिंग कंपनी एसीसी सीमेंट में पाकिस्‍तानी लोगों की हिस्‍सेदारी है। 
- इसके अलावा बिड़ला परिवार की कंपनियों हिंदुस्‍तान मोटर्स में भी यह हिस्‍सेदारी है।
- साथ ही विप्रो, सिप्‍ला और डालमिया भारत में भी यह शेयर होल्डिंग है।

 

एक पाकिस्‍तानी ने किया क्‍लेम
- भारतीय कंपनियों के इन शेयर्स को लेकर एक पाकिस्‍तानी नागरिक क्‍लेम भी कर चुका है।
- इस शख्‍स ने विप्रो के करीब 500 करोड़ रुपए के शेयर्स पर क्‍लेम किया। 
- इस हिसाब से विप्रो एक मात्र कंपनी है, जिसकी शेयर होल्डिंग की किसी पाकिस्‍तानी या बांग्‍लादेशी नागरिक के पास सीधे तौर पर है।
 
आगे पढ़ें- पाकिस्‍तानियों की सबसे ज्‍यादा शेयर होल्डिंग वाली टॉप-5 भारतीय कंपनियों के बारे में... 

 

सिप्‍ला
पाकिस्‍तानी शेयर होल्‍डर्स: 34
कितने शेयर: 2.26 करोड़
वैल्‍यू: 1468 करोड़ रुपए
 
शेयरहोर्ल्‍ड की बात की जाए तो इस मामले में पहले नंबर पर फॉर्मा कंपनी सिप्‍ला का नाम आता है। इस कंपनी में 34 डिक्‍लेयर्ड एनमीज के शेयर्स हैं। इन शेयर की कुल कीमत करीब 1468 करोड़ रुपए है। यह सिप्‍ला की टोटल मार्केट कैप का करीब 2.81 फीसदी है।  

आगे पढ़ें- एक और कंपनी के बारे में....

विप्रो
पाकिस्‍तानी शेयर होल्‍डर्स: 2
कितने शेयर: 1.86 करोड़
वैल्‍यू: 1042 करोड़ रुपए
 
जिस दूसरी भारतीय कंपनी में पाकिस्‍तानी लोगों की हिस्‍सेदारी है, उसका नाम विप्रो है। अजीम प्रेमजी की इस कंपनी में 2 पाकिस्‍तानी लोगों की कुल 1042 करोड़ रुपए की हिस्‍सेदारी है। यह कंपनी की कुल मार्केट कैप का करीब 0.75 फीसदी है। अजीम प्रेमजी के पिता हासिम प्रेमजी का बिजनेस बेस किसी जमाने में कराची ही हुआ करता था।

ACC सीमेंट
पाकिस्‍तानी शेयर होल्‍डर्स: 172
कितने शेयर: 3.8 लाख  
वैल्‍यू: 52.47 करोड़ रुपए
 
एक अन्‍य कंपनी जिसमें पाकिस्‍तानी की हिस्‍सेदारी है वह है एसीसी सीमेंट। इस कंपनी में 177 पाकिस्‍तानी लोगों की करीब 52.47 करोड़ रुपए की हिस्‍सेदारी है। यह उसकी कुल मार्केट कैप का करीब .21 फीसदी है। एसीसी सीमेंट के फाउंडर्स में से एक एफई दिनशॉ के पिता कराची के सबसे बड़े लैंडलॉर्ड हुआ करते थे।  साथ ही एसीसी सीमेंट में टाटा ग्रुप की भी हिस्‍सेदारी है और टाटा फैमिली भी इस कंपनी के फाउंडर्स में शामिल थी।

डालमिया भारत

पाकिस्‍तानी शेयर होल्‍डर्स: 140
कितने शेयर: 1.88 लाख  
वैल्‍यू: 16.14 करोड़ रुपए
 
अन्‍य कपंनी जिसमें पाकिस्‍तानी लोगों की हिस्‍सेदारी है वह है डालमिया भारत। इस कंपनी में करीब 140 पाकिस्‍तानी लोगों की 16.14 करोड़ रुपए हिस्‍सेदारी है। यह इस कंपनी की कुल मार्केट कैप का 0.08 फीसदी है।

 

 

VST  इंडस्‍ट्रीज
पाकिस्‍तानी शेयर होल्‍डर्स: 1
कितने शेयर: 1.19 लाख  
वैल्‍यू: 20.13 करोड़ रुपए

अगली जिस कंपनी में एनमीज की शेयर होल्डिंग है, वह है वीएसटी इंडस्‍ट्रीज। हैदराबाद स्थित यह कंपनी सिग्रेट बनाती है। इस कंपनी में पाकिस्‍तानियों की 20.13 करोड़ रुपए की हिस्‍सेदारी है। यह इस कंपनी की टोटल मार्केट कैप का 0.66 फीसदी है।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट