विज्ञापन
Home » Economy » InternationalMost Welcoming countries rank 2019

भारतीय पासपोर्ट की बढ़ी पावर, 5 साल में 10 अंको की छलांग, दुनिया के 64 देशों में एंट्री लेना हुआ आसान

पाकिस्तानी पासपोर्ट को रैंकिंग में मिली नीचे से तीसरी पायदान 

1 of

नई दिल्ली. भारत के पासपोर्ट पर दुनिया के 25 देशों बगैर वीजा के एंट्री मिल जाती है साथ ही 39 देशों में वीजा ऑन अराइव (Visa on arrival) की सविधा दी जाती है। साल 2019 के पासपोर्ट इंडेक्स में भारत को 199 देशों के बीच 67 रैंक मिली है। इसमें पिछले 5 साल में 10 पायदान का सुधार हुआ है। साल 2015 में भारतीया पासपोर्ट को 77वीं रैंक हासिल हुई है।

 

भारतीय पासपोर्ट पर दुनिया के देशों में एंट्री लेना हुआ आसान 

पासपोर्ट इंडेक्स अपनी रैंकिंग वीजा फ्री स्कोर और ह्यूमन डेवल्पमेंट इंडेक्ट (UNDP) के आधार पर तैयार करता है। मौजूदा वक्त में भारतीयों को 134 देशों में जाने के लिए वीजा की जरूरत पड़ती है। वहीं भारत दुनिया के 166 देशों के नागरिक बिना वीजा, ई-वीजा और वीजा ऑन अराइव की सुविधा देता है। इस वजह से भारत की वेलकमिंग कंट्री लिस्ट में 19वां स्थान हासिल हुआ है। बता दें कि भारत में 50 इंटरनेशनल टूरिज्म बोर्ड ने अपने ऑफिस सेपअप किए हैं।

वेलकमिंग कंट्री में यूएई सबसे आगे 

विश्व के अन्य देशों की बात करें, तो यूएई सबसे ज्यादा 167 देशों के नागरिकों को अपने देश में आसान एंट्री देता है। यूएई में 113 देशों को वीजा फ्री, 54 देशों के नागरिको को वीजा ऑन अराइव की सुविधा देता है। इस वजह से वेलकमिंक देशों में यूएई पहले पायदान पर आता है, जबकि यूएई के नागरिकों को 31 देशों में जाने के लिए वीजा लेना अनिवार्य होता है. 

 

 

सार्क देश के पासपोर्ट की पावर

सार्क देशों में पाकिस्तान और अफगानिस्तान का सबसे बुरा हाल है। पाकिस्तान को 91वीं रैंक हासिल है। सार्क देशों में मालदीव के बाद भारत का दूसरा नंबर आता है। मालदीव 51वीं रैंक के साथ पहले पायदान पर है, उसे पासपोर्ट पर 84 देशों में बिना वीजा के एंट्री ली जा सकती है। सार्क देशो में भूटान को 62वीं, नेपाल को 82वीं, श्रीलंका को 83वीं, बांग्लादेश को 86वीं, पाकिस्तान को 91वीं और अफगानिस्तान को 93वीं रैंक हासिल है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss