विज्ञापन
Home » Economy » InternationalIndia will become world's fifth largest economy by overtaking Britain

कभी जिस देश का गुलाम रहा भारत, आज उसे ही पछाड़ने की तैयारी

दुनिया पर राज करने वाली अर्थव्यवस्थाओं से आगे निकलता जा रहा है भारत

1 of

नई दिल्ली। कभी दुनिया पर राज करने वाले BRITAIN की अर्थव्यवस्था को भारत पीछे छोड़ने जा रहा है। भारतीय अर्थव्यवस्था विकसित देशों में शुमार फ्रांस की अर्थव्यवस्था को पहले ही पीछे छोड़ चुकी है। हाल ही में वैश्विक सलाहकार कंपनी PWC की रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है जिसमें कहा गया है कि INDIA 2019 में दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सूची में ब्रिटेन को पीछे छोड़ सकता है। 

 

7.6 प्रतिशत रहेगी भारत की जीडीपी वृद्धि दर 

रिपोर्ट में कहा गया है कि एक ही स्तर के विकास और कमोवेश समान आबादी की वजह से इस सूची में ब्रिटेन और फ्रांस आगे पीछे होते रहते हैं। लेकिन यदि INDIA इस सूची में आगे निकलता है तो उसका स्थान स्थायी रहेगा। PWC की वैश्विक अर्थव्यवस्था निगरानी रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि 2019 में ब्रिटेन की वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 1.6 प्रतिशत, फ्रांस की 1.7 प्रतिशत तथा भारत की 7.6 प्रतिशत रहेगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत और फ्रांस 2019 में ब्रिटेन को पीछे छोड़ देंगे। इससे वैश्विक रैंकिंग में ब्रिटेन पांचवें स्थान से फिसलकर सातवें पायदान पर पहुंच जाएगा। 

पांचवें स्थान पर काबिज है भारत


WORLD BANK के आंकड़ों के अनुसार, 2017 में फ्रांस को पीछे छोड़कर भारत दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया था। जल्द भारत के ब्रिटेन को पीछे छोड़ने की उम्मीद है जो पांचवें स्थान पर है।  पीडब्ल्यूसी वैश्विक अर्थव्यवस्था निगरानी रिपोर्ट एक लघु प्रकाशन है जो वैश्विक अर्थव्यवस्था के रुख और मुद्दे पर गौर करता है। साथ ही यह दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं पर ताजा अनुमान प्रकाशित करता है। पीडब्ल्यूसी इंडिया के भागीदार एवं लीडर (लोक वित्त तथा अर्थशास्त्र) रानेन बनर्जी ने कहा कि यदि कोई बड़ी अड़चन नहीं आती है तो 2019-20 में भारत 7.6 प्रतिशत की मजबूत वृद्धि की ओर लौटेगा। 

भारत दुनिया की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था


PWC के वरिष्ठ अर्थशास्त्री माइक जैकमैन ने कहा कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती बड़ी अर्थव्यवस्था है। बड़ी आबादी, अनुकूल जनसांख्यिकीय तथा प्रति व्यक्ति जीडीपी के निचले स्तर की वजह से उसकी तेजी से पकड़ने की क्षमता भी अधिक है। पीडब्ल्यूसी की रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था की वृद्धि 2019 में सुस्त रहेगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं की वृद्धि दर ने 2016 के अंत तथा 2018 के शुरू में जो रफ्तार पकड़ी थी, अब वह पूरी हो चुकी है।  WORLD BANK के आंकड़ों के अनुसार 2017 में भारत 2,590 अरब डॉलर के बराबर की जीडीपी के साथ दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया था। उसने फ्रांस को पीछे छोड़ा था। फ्रांस का जीडीपी 2,580 अरब डॉलर था। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन