Home » Economy » InternationalIndia welcomes grey listing of Pakistan FATF

फेल होने की वजह से FATF की ग्रे लि‍स्‍ट में दर्ज हुआ पाकिस्‍तान का नाम, भारत ने कि‍या एक्‍शन का स्‍वागत

एफएटीएफ का काम मनी लॉन्‍ड्रिंग और आतंकवादि‍यों को आर्थि‍क मदद देने वालों की पहचान करना और उसकी रोकथाम करना है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली. भारत ने Financial Action Task Force (FATF) द्वारा पाकि‍स्‍तान को 'ग्रे लि‍स्‍ट' में डालने का स्‍वागत कि‍या। एफएटीएफ का काम मनी लॉन्‍ड्रिंग और आतंकवादि‍यों को आर्थि‍क मदद देने वालों की पहचान करना और उसकी रोकथाम  करना है।

 

ये बॉडी ऐसे देशों को ग्रे लि‍स्‍ट में डालती है, जो अपनी जमीन पर आतंकवादि‍यों की फंडिंग रोकने में वि‍फल रहते हैं। पाकिस्तान को ग्रे-लि‍स्‍ट में रखने का फैसला तो फरवरी में ही लिया गया था, लेकिन पाक ने इसे चुनौती दी और जून तक का वक्‍त मांगा। हालांकि वह ये साबि‍त करने में फेल हो गया कि वह आतंकि‍यों की फंडिंग रोक रहा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक सवाल के जवाब में कहा कि‍ भारत, एफएटीएफ द्वारा पाकिस्तान को 'ग्रे लि‍स्‍ट' में शामि‍ल करने का स्‍वागत करता है।   आगे पढ़ें 

 

 

 

पाक की कथनी और करनी में अंतर 
कुमार ने कहा कि‍ हाफिज सईद जैसे नामी आतंकी की आजादी व दंडमुक्ति और जमात उद दावा, लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठनों का पाकिस्तान में संचालन इन प्रतिबद्धता से बिल्कुल मेल नहीं खाते। कुमार ने कहा कि भारत आशा करता है कि एफएटीएफ कार्य योजना का समयबद्ध तरीके से पालन किया जाएगा और पाकिस्तान द्वारा नियंत्रित किसी भी क्षेत्र से उत्पन्न आतंकवाद से संबंधित वैश्विक चिंताओं को हल करने के लिए विश्वसनीय उपाय किए जाएंगे। आगे पढ़ें 

 

 

 

पाकि‍स्‍तान ने प्रति‍बद्धता जताई थी 

उन्‍होंने कहा कि‍ आतंक वित्तपोषण और एंटी मनी लॉन्ड्रिंग से मुकाबले के लिए एफएटीएफ मानकों को लागू करने से संबंधित वैश्विक चिंताओं को हल करने के लिए पाकिस्तान ने उच्चस्तरीय राजनीतिक प्रदिबद्धता दी थी। इसमें विशेषकर संयुक्त राष्ट्र द्वारा नामित और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिबंधित आतंकवादी संस्‍थाओं और व्यक्तियों के संबंध का भी जिक्र था। हालांकि‍ वह अपनी प्रति‍बद्धता पर खरा नहीं उतर पाया। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट