Home » Economy » Internationalभारत बना छठां सबसे अमीर देश - AfrAsia Bank Global Wealth Migration Review, India sixth wealthiest country with total wealth of USD 8,230 bn

भारत दुनिया का छठां सबसे अमीर देश, 559 लाख करोड़ रु. है दौलत

यह बात एएफआर एशिया बैंक ग्‍लोबल वेल्‍थ माइग्रेशन रिव्‍यू से सामने आई है।

1 of

नई दिल्‍ली. भारत दुनिया का छठां सबसे अमीर देश बन गया है। देश की दौलत 559 लाख करोड़ रुपए (8,230 अरब डॉलर) से ज्‍यादा हो गई है। यह बात AFR एशिया बैंक ग्‍लोबल वेल्‍थ माइग्रेशन रिव्‍यू से सामने आई है। रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया का सबसे अमीर देश अमेरिका बना हुआ है। अमेरिका की दौलत 62,584 अरब डॉलर (42.54 लाख अरब रुपए से ज्‍यादा) है। लिस्‍ट में दूसरे पायदान पर 24,803 अरब डॉलर के साथ चीन और तीसरे पायदान पर 19,522 अरब डॉलर के साथ जापान का स्‍थान रहा। 

 

 

किसी भी देश की कुल संपत्ति वहां रहने वाले लोगों की व्‍यक्तिगत तौर पर दौलत को दर्शाती है। इसमें लायबिलिटी को छोड़कर उनके सभी एसेट्स (प्रॉपर्टी, कैश, इक्विटीज, बिजनेस इंट्रस्‍टेस) शामिल होते हैं। हालांकि इस आंकड़े में गवर्मेंट फंड शामिल नहीं होते हैं।  

 

टॉप 10 लिस्‍ट के अन्‍य देश 

टॉप 10 सबसे अमीर देशों की लिस्‍ट में शामिल अन्‍य देश ब्रिटेन (9,919 अरब डॉलर) चौथे नंबर पर, जर्मनी (9,660 अरब डॉलर) पांचवें, ऑस्‍ट्रेलिया (6,142 अरब डॉलर) सातवें, कनाडा (6,393 अरब डॉलर) आठवें, फ्रांस (6,649 अरब डॉलर) नौवें और इटली (4,276 अरब डॉलर) दसवें स्‍थान पर रहे।  

 

ज्‍यादा एंटरप्रेन्‍योर्स, अच्‍छा एजुकेशन सिस्‍टम जैसे फैक्‍टर्स ने बढ़ाई दौलत 

रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में वेल्‍थ क्रिएशन में मदद करने वाले कारकों में एंटरप्रेन्‍योर्स की ज्‍यादा संख्‍या, अच्‍छा एजुकेशन सिस्‍टम, आईटी सेक्‍टर में आ रही तेजी, बीपीओ, रियल एस्‍टेट, हेल्‍थकेयर और मीडिया सेक्‍टर शामिल हैं। इन सभी के चलते अलगे 10 सालों में भारत की दौलत में 200 फीसदी बढ़ोत्‍तरी होने का अनुमान है। चीन की संपत्ति 2027 तक बढ़कर  69,449 अरब डॉलर हो जाने का, वहीं अमेरिका की दौलत लगभग 75,101 अरब डॉलर हो जाने का अनुमान है। 

 

2027 तक चौथा सबसे अमीर देश बन जाएगा भारत 

रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि 2027 तक भारत, जर्मनी व ब्रिटेन से आगे निकल जाएगा और दुनिया का चौथा सबसे अमीर देश बन जाएगा। इसके अलावा वेल्‍थ के मामले में सबसे तेजी से ग्रोथ दर्ज करने वाले देश श्रीलंका, भारत, वियतनाम, चीन, मॉरिशस होंगे। 

 

दुनिया में 584,000 मल्‍टी मिलियेनियर्स 

पूरी दुनिया की कुल प्राइवेट वेल्‍थ मिलाकर लगभग 215000 अरब डॉलर पर पहुंच गई है। इसमें अगले 10 सालों में 50 फीसदी बढ़ोत्‍तरी होने का अनुमान है और यह 2027 तक 321000 अरब डॉलर का आकंड़ा छू लेगी। दुनिया के अमीर लोगों की बात करें तो मल्‍टी मिलियेनियर्स का आंकड़ा लगभग 584,000 है। इनमें से हर एक का नेट एसेट 1 करोड़ डॉलर या इससे ज्‍यादा है। वहीं पूरी दुनिया में अरबपतियों की संख्‍या 2,252 है, जिनमें से हर एक का नेट एसेट 1 अरब डॉलर या उससे ज्‍यादा है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट