बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalचीन को झटका देने के लिए मोदी ने चला था दांव, निशाने पर आ गया अपना ही दोस्त

चीन को झटका देने के लिए मोदी ने चला था दांव, निशाने पर आ गया अपना ही दोस्त

भारत अब स्टील प्रोडक्शन में चीन को टक्कर देगा, जापान छूट जाएगा पीछे

1 of

नई दिल्ली। स्टील मिनिस्ट्री के एक बयान के मुताबिक, आने वाले कुछ दिनों में भारत वैश्विक कच्चे इस्पात (crude steel) के उत्पादन के मामले में चीन के बाद दूसरा स्थान हासिल कर लेगा। मतलब साफ है अब तक दूसरे स्थान पर चल रहे दोस्त देश जापान को वह स्टील प्रोडक्शन के मामले में पीछे छोड़ देगा। मंत्रालय का दावा है कि मोदी सरकार की ओर से उठाए गए कई कदमों के चलते ऐसा देखने को मिला है। इसमें से कुछ कदम भारत ने चीन के सस्ते स्टील को भारत में आने से रोकने के लिए भी उठाया था, ताकि घरेलू उद्योगों को स्टील के प्रोडक्शन के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। 

भारत पहुंच जाएगा दूसरे नंबर पर 

इस्पात मंत्रालय के मुताबिक, भारत ने वाले कुछ वक्त में चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा crude steel प्रोड्यूसर बन जाएगा। वर्ल्ड स्टील एसोसिएशन के  2017 के आंकड़ों के मुताबिक, चीन ने ग्लोबल क्रूड स्टील आउटपुट का 49.2 फीसदी प्रोडक्शन अकेले चीन ने किया।  इसके बाद 6.2 फीसदी के साथ जापान दूसरे और 6 फीसदी के साथ भारत तीसरे नंबर पर था। पर अब भारत जापान को पीछे छोड़ते हुए दूसरे नंबर पर पहुंच सकता है।  

 

आगे पढ़ें- चीन के खिलाफ भारत ने उठाए थे कदम.....

चीन के खिलाफ भारत ने उठाए थे कदम  
मिनिस्ट्री के मुताबिक, कम ऊर्जा खपत वाली परियोजनाओं (ऊर्जा संरक्षण एवं जीएचजी उत्‍सर्जन का नियंत्रण) और अनुसंधान एवं विकास (R&D)से जुड़ी गतिविधियों के लिए मदद देना, संस्‍थागत मदद को मजबूती देना,  कम ऊर्जा खपत वाली प्रौद्योगिकियों एवं अभिनव उपायों को अपनाने वाली प्रगतिशील इकाइयों (यूनिट) के उत्‍कृष्‍ट कार्यकलापों की सराहना एवं प्रोत्‍साहित करने के लिए एक पुरस्‍कार योजना शुरू करना भी इन अनगिनत पहलों में शामिल हैं। इसके अलावा विदेश से लागत से भी कम कीमत पर आने वाले स्टील से डोमेस्टिक प्रोड्यूसर्स को बचाने के लिए एंटी डंपिंग ड्यूटी जैसे कदम भी उठाए गए थे। ये कदम खास तौर पर चीन के सस्ते स्टील से घरेलू उत्पादकों को बचाने के लिए उठाए गए थे। 


आगे पढ़ें- चीन, US और EU के स्टील पर ड्यूटी बढ़ाने की तैयारी 

 

 

चीन, US और EU के स्टील पर ड्यूटी बढ़ाने की तैयारी 
बता दें कि भारत सरका चीन, अमेरिका और यूरोपीय यूनियन के सस्ते स्टील से भारतीय स्टील उत्पादों को बयाने के लिए एक बार फिर से एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाने पर विचार कर रही है। पीटीआई की एक खबर के मुताबिक, कुछ खास तरह के स्टील पर पिछले साल लगाई गई एंटी डंपिंग ड्यूटी को सरकार और बढ़ाने पर विचार कर रही है। फिलहाल इस बारे में अभी कोई आखिरी फैसला नहीं हो पाया है। देश के सभ बड़े स्टील प्रोड्यूर्स जैसे  JSW Steel Ltd, Sunflag Iron & Steel Co, Usha Martin, Gerdau Steel India, Vardhman Special Steels and Jayaswal Neco Industries Ltd आदि ने सरकार ने इसकी गुहार लगाई है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट