बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalमोदी- पुतिन की मुलाकात से पहले होगी S-400 की डील

मोदी- पुतिन की मुलाकात से पहले होगी S-400 की डील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रुस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमीर पुतिन के बीच अक्‍टूबर में होने वाली मुलाकात से पहले दोनों देश

India and Russia likely to ink S400 Triumf deal

नई दिल्‍ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रुस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमीर पुतिन के बीच अक्‍टूबर में होने वाली मुलाकात से पहले दोनों देशों के बीच S-400 एयर डिफेंस मिसाइल को लेकर समझौता हो सकता है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक यह डील पूरी होने के करीब है। मिसाइल की कीमत और अन्य मुद्दों पर मतभेद लगभग खत्‍म हो चुके हैं। 

 

पुतिन - मोदी मुलाकात से पहले 

 

सूत्र ने बताया कि यह डील रुस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमिर पुतिन और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच सितंबर या अक्‍टूबर में होने वाली मुलाकात से पहले पूरी कर ली जाएगी।  

सूत्र के मुताबिक रूस पर अमेरिकी प्रतिबंध लगाने वाला नया कानून CAATSA ( काउंटरिंग अमेरिकन एडवर्सरीज  थ्रू सैंक्शंस एक्ट) का डील पर कोई असर नहीं पड़ा है।  भारत पहले से ही इस डील को लेकर आश्‍वस्‍त था। अमेरिका ने रुस पर इसी साल जनवरी में CAATSA कानून लगाया था। 

 

यूएस के डिफेंस सेक्रेटरी ने की थी अपील 
बता दें कि यूएस के डिफेंस सेक्रेटरी जिम मैटिस ने पिछले सप्‍ताह अमेरिकी संसद से तत्काल प्रभाव से भारत को नैशनल सिक्यॉरिटी वेवर देने की अपील की थी। उन्होंने कहा था कि रूस से एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम खरीद को रोकने के लिए बनाए गए नए कानून के तहत भारत पर प्रतिबंध लगाने से अमेरिका का नुकसान होगा। 

 

क्‍या है CAATSA  कानून 


CAATSA कानून पर 2017 अगस्त में हस्ताक्षर किए गए थे, जो इस साल जनवरी से प्रभाव में आया। यह प्रावधान ट्रंप प्रशासन को उन देशों या कंपनियों को दंडित करने का अधिकार देता है, जो रूस के डिफेंस या इंटेलिजेंस सेक्टर से जुड़ा कोई लेन-देन करते हैं। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट