विज्ञापन
Home » Economy » InternationalIndia among countries to benefit from US-China trade war

आने वाले समय में  भारत के निर्यात में होगी  3.5% तक बढ़ोतरी, ये है बड़ी वजह

देशों को मिलेगा 49.70 लाख करोड़ का अतिरिक्त कारोबार

India among countries to benefit from US-China trade war

India among countries to benefit from US-China trade war हाल ही में आई संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका और चीन के बीच लंबे समय से चल रहे ट्रेड वॉर का फायदा सीधे तौर पर भारत को पहुंचेगा।  यूएन कॉन्फ्रेंस ऑन ट्रेड एंड डेवलपमेंट की रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका-चीन के बीच इस झगड़े से भारत के निर्यात में 3.5% तक बढ़ोतरी हो सकती है।

नई दिल्ली। हाल ही में आई संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका और चीन के बीच लंबे समय से चल रहे ट्रेड वॉर का फायदा सीधे तौर पर भारत को पहुंचेगा।  यूएन कॉन्फ्रेंस ऑन ट्रेड एंड डेवलपमेंट की रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका-चीन के बीच इस झगड़े से भारत के निर्यात में 3.5% तक बढ़ोतरी हो सकती है।  दोनों देशों के बीच इस झगड़े से यूरोपियन यूनियन के देशों को खूब फायदा होगा। इस देशों को 49.70 लाख करोड़ का अतिरिक्त कारोबार मिल सकता है। वहीं जापान, मैक्सिको और कनाड़ा जैसे देशों को  14.2 लाख करोड़ का कारोबार मिल सकता है। 

 

वॉशिंगटन और पेइचिंग के बीच ट्रेड वॉर से इन देशों को होगा फायदा


रिपोर्ट में कहा गया कि वॉशिंगटन और पेइचिंग के बीच चल रहे टैरिफ युद्ध (एक दूसरे के सामानों पर शुल्क लगाना) का फायदा कई देशों को होगा, जिसमें ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, भारत, फिलीपींस, पाकिस्तान और वियतनाम प्रमुख हैं। संस्था की रिपोर्ट ‘द ट्रेड वार्स: द पेन एंड गेन’ में कहा गया है कि दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के टकराव का सबसे ज्यादा फायदा वो देश उठा सकेंगे, जिनकी अर्थव्यवस्था प्रतिस्पर्धी और मजबूत है। ऐसे देश ही चीन और अमेरिकी कंपनियों का विकल्प तैयार कर सकेंगे।

 

यूरोपीय निर्यात को होगा 70 अरब डॉलर का फायदा 


रिपोर्ट में कहा गया है  कि यूरोपीय निर्यात को 70 अरब डॉलर का फायदा होगा, जबकि जापान, कनाडा और मैक्सिको के निर्यात में प्रत्येक को 20-20 अरब डॉलर का फायदा होगा। यूएनसीटीएडी की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘अमेरिका-चीन तनाव से उन देशों को ज्यादा फायदा मिलने की उम्मीद है, जो अधिक प्रतिस्पर्धी हैं और अमेरिकी और चीनी कंपनियों का जगह लेने की आर्थिक क्षमता रखते हैं।’

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन