विज्ञापन
Home » Economy » Foreign TradeIMF on digitization in India

IMF ने की मोदी के आर्थिक सुधारों की तारीफ, कहा- देश के इन सेक्टरों पर दिखा रहा असर

भारत दुनिया की सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बना रहेगा।

1 of

नई दिल्ली. वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (IMF) और वर्ल्ड बैंक की सालाना बैठक में जारी रिपोर्ट में मोदी सरकार के आर्थिक सुधारों को देश के फायदेमंद करार दिया। आईएमएफ के मुताबिक भारत में कुछ ऐसे सुधार हुए हैं, जिसकी वजह से देश में डिजिटाइजेशन बढ़ा है। इसकी वजह से धोखाधड़ी और अन्य फ्रॉड में कमी आयी है। 

 

जीएसटी और अन्य आर्थिक सुधारों का दिखा देश पर असर

वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक की रिपोर्ट के मुताबिक सरकारी कर्ज घटाने की कोशिशों के तहत स्ट्रक्चरल और फाइनेंशियल सेक्टर में सुधार की वजह से भारत की आर्थिक स्थिति मजबूत हुई है।रिपोर्ट में कहा गया है कि GST ने इसमें एक अहम रोल अदा किया है। हालांकि सब्सिडी को घटाने पर ग्रोथ रेट और बेहतर होने की उम्मीद जतााई है। इस रिपोर्ट में एनपीए की समस्या से निपटने के लिए भारत सरकार के प्रयासों की सराहना की गई है। एनपीए समस्या के समाधान करने के लिए केंद्र सरकार ने बैंकरप्सी कानून लागू किया है। 

 

डिजिटलाइजेशन से बढ़ी पारदर्शिता

रिपोर्ट में कहा गया कि दुनिया में भारत और इंडोनेशिया दो ऐसे देश है, जिसमें जहां डिजिटलाइजेशन का असर दिख रहा है।  उदारण के तौर पर बताया गया कि भारत में सामाजिक मदद के लिए डिजिटल प्लेटफार्म को चुना गया। इसका असर यह हुआ कि 17 फीसदी खर्च की बचत हो सकी। इसी तरह आंध्र प्रदेश में स्मार्ट आईडी कार्ड के जरिए लाभार्थियों तक सीधे मदद पहुंचाई गई। 

भ्रष्टाचार में हुआ सुधार 

डिजिटलीकरण से चीजों के दाम और उसकी क्वॉलिटी में सुधार हुआ। साथ ही भ्रष्टाचार के इंडेक्स में भी सुधार की बात कही गयी है। इसके अलावा मिस मैनेजमेंट में भी सुधार दिखा है। रिपोर्ट की मानें, तो केंद्र सरकार की ओर से फरवरी में पेश किए गए बजट में किसानों के लिए न्यूनतम सपोर्ट स्कीम की वजह से अर्थव्यवस्था पर असर पडने की बात कही। केंद्र के चालू घाटे को पूरा करने में देरी होने की संभावना जताई है। 

 

 

भारत बना रहेगा सबसे तेज अर्थव्यवस्था 

इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (IMF) ने इससे पहले मंगलवार को भारत दुनिया की सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बताया था। IMF ने साल 2019 में भारत की अर्थव्यवस्था 7.3 प्रतिश से बढ़ने की उम्मीद जताई थी, जबकि साल 2020 में इसके 7.5 प्रतिशत की दर से बढ़ने की संभावना जाहिर की है। बता दें कि साल 2018 में भारत की ग्रोथ रेट 7.1 फीसदी थी जबकि चीन की ग्रोथ रेट महज 6.6 फीसदी थी। आईएमएफ ने चीन की ग्रोथ रेट 2019 में 6.3 फीसदी और 2020 में 6.1 फीसदी होने का अनुमान लगाया है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Recommendation
विज्ञापन
विज्ञापन