बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalआपका तो 1 रुपया बचेगा, मोदी सरकार के जाएंगे 13 हजार करोड़

आपका तो 1 रुपया बचेगा, मोदी सरकार के जाएंगे 13 हजार करोड़

सरकार पर एक्‍साइज ड्यूटी में कटौती करने का दबाव बढ़ता जा रहा है।

Govt will have to shell out 13000 crore to for every 1 rs in excise cut

नई दिल्‍ली. पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों से सरकार पर इनकी एक्‍साइज ड्यूटी में कटौती करने का दबाव बढ़ता जा रहा है। इस बीच रेटिंग एजेंसी मूडीज ने चेतावनी जारी दी है कि पेट्रोल और डीजल की एक्‍साइज ड्यूटी में किसी भी तरह की कटौती राजकोषीय घाटे को बढ़ा देगी और इसकी भरपाई के लिए सरकार को खर्चों में कटौती करनी होगी।  


बता दें कि अंतर्राष्‍ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमतों में आई तेजी के चलते देश में भी पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं। सरकार के अनुमान के मुताबिक, पेट्रोल-डीजल पर एक्‍साइज ड्यूटी में हर 1 रुपए की कटौती से रेवेन्‍यु के मोर्चे पर 13,000 करोड़ रुपए का नुकसान होगा। 


पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं
सोमवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। इसके पहले शनिवार और रविवार को पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ था। हालांकि रविवार को डीजल के भाव में 7 पैसे प्रति लीटर की कटौती की गई थी। दिल्ली में पेट्रोल के मौजूदा भाव 76.35 रुपए और डीजल के भाव 67.85 रुपए प्रति लीटर हैं। 29 मई से अब तक पेट्रोल 2.08 रुपए और 1.53 रुपए सस्ता हो चुका है।

 

पिछले 19 दिन में पेट्रोल 2.08 रुपए/लीटर सस्ता
पिछले 19 दिनों की बात करें तो महानगरों में पेट्रोल 2.08 रुपए प्रति लीटर तक सस्ता हो चुका है। वहीं, डीजल 1.46 रुपए प्रति लीटर सस्ता हुआ है। अब दिल्ली में पेट्रोल 76.35 रुपए और डीजल 67.85 रुपए प्रति लीटर हो गया है। वहीं, गिरावट के बाद भी मुंबई में पेट्रोल के रेट सबसे ज्यादा हैं, जहां पेट्रोल 84.18 रुपए और डीजल 72.24 रुपए प्रति लीटर है।


कच्‍चे तेल के भाव 73.44 डॉलर प्रति बैरल
इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की कीमतें घटकर 73.44 डॉलर प्रति बैरल हो गई हैं। पिछले 1 महीने की बात करें तो क्रूड 80.50 डॉलर प्रति बैराल के स्तर से 7 डॉलर प्रति बैरल तक सस्ता हो चुका है। वहीं, 22 जून को ओपेक देशों की होने वाली मीटिंग में क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाए जाने को लेकर सहमति बनने के संकेत मिल रहे हैं। दूसरी ओर अमेरिका में प्रोडक्शन बढ़ा है। ऐसे में 22 जून तक क्रूड की कीमतों में तेजी के आसार नहीं है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट