विज्ञापन
Home » Economy » InternationalGita Gopinath presents first imf report

गीता गोपीनाथ ने IMF की अपनी पहली रिपोर्ट में भारतीय अर्थव्यवस्था पर की बड़ी भविष्यवाणी

गोपीनाथ IMF की पहली भारतीय मूल की महिला चीफ हैं। 

Gita Gopinath presents first imf report

Gita Gopinath presents first imf report: भारतीय मूल की गीता गोपीनाथ ने इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (IMF) की चीफ इकोनॉमिस्ट बनने के बाद वैश्विक विकास की पहली रिपोर्ट पेश की। जिसमें भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर बड़ी भविष्यवाणी की।

नई दिल्ली. भारतीय मूल की गीता गोपीनाथ ने इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (IMF) की चीफ इकोनॉमिस्ट बनने के बाद वैश्विक विकास की पहली रिपोर्ट पेश की। जिसमें भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर बड़ी भविष्यवाणी की। उन्होंने कहा कि कच्चे तेल की कम कीमत और ब्याज दरों में बढ़ोतरी की अपेक्षा से धीमी रफ्तार रहेगी। इस वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था 2019 में गति पकड़ेगी। इसकी पूरी संभावना है, क्योंकि मुद्रास्फीति का दबाव कम हुआ है।

 

चीन की विकास दर कमजोर होगी

इसमें चीन की विकास दर 2017 के 6.9 प्रतिशत से घटकर 2018 में 6.6 प्रतिशत और 2019 तथा 2020 में और कम होकर 6.2 प्रतिशत पर आ जाने की संभावना बताई गई है। वहीं वैश्विक विकास दर 2017 के 3.8 प्रतिशत की तुलना में 2018 में 3.7 प्रतिशत और 2019 में 3.5 प्रतिशत रहने का पूर्वानुमान है। इसके 2020 में फिर से सुधरकर 3.6 प्रतिशत पर पहुँचने की संभावना है। 

 

चीन की अर्थव्यवस्था में आ सकती है तेज गिरावट

गोपीनाथ ने रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वैश्विक विस्तार कमजोर पड़ रहा है और इसके कमजोर होने की रफ्तार अपेक्षा से ज्यादा है। वर्ष 2018 में ज्यादातर समय विकसित अर्थव्यवस्था में व्यापार युद्ध नहीं दिखा। लेकिन हाल के दिनों में यह दिखने लगा है। उन्होंने लिखा है कि यदि व्यापार युद्ध का तनाव बरकरार रहता है तो चीन की विकास दर अपेक्षा से ज्यादा तेजी से सुस्त पड़ सकती है। इससे वित्तीय तथा कॅमोडिटी बाजारों में 2015-16 जैसी तेज बिकवाली की स्थिति सामने आ सकती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन