विज्ञापन
Home » Economy » InternationalYou Can Get A Free Home In Japan Through Akiya Bank

दुनिया के इस दौलतमंद देश में मुफ्त में मिल रहे हैं मकान, 1 करोड़ से अधिक घर खाली, आकिया बैंक से करना होगा संपर्क

देश के हर शहर में हैं ऐसे खूबसूरत और आलीशान मकान

1 of

नई दिल्ली.

दुनिया के अमीर देशों में शुमार जापान इन दिनों मकान मुफ्त में मिल रहे हैं। दरअसल यहां खाली पड़े घरों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। इन घरों को यहां आकिया कहते हैं। इन घरों में रहने वाला तो छोड़िए कोई इनकी देखरेख करने वाला भी नहीं है। ऐसे में ये सरकार के लिए संसाधन कम और मुसीबत ज्यादा बनते जा रहे हैं। लिहाजा सरकार के पास इन्हें मुफ्त में बांटने के अलावा कोई चारा नहीं है। इसके लिए यहां पर आकिया बैंक खोले गए हैं, जहां से आप बेहद कम दामों में या मुफ्त में भी घर पा सकते हैं। ऐसे में अगर आप भी मुफ्त में घर पाना चाहते हैं तो आप जापान का रुख कर सकते हैं।

 

1 करोड़ से ज्यादा घर हैं खाली

World Bank के आंकड़ों के मुताबिक जापान की जनसंख्या 2017 में -0.2 फीसदी से घटी है, जबकि चीन और अमेरिका में जनसंख्या क्रमश: 0.6 और 0.7 फीसदी बढ़ी है। लिहाजा यहां घर खाली हो रहे हैं। 2013 में जापान में 82 लाख ऐसे घर थे, अब इनकी संख्या 1 करोड़ को पार कर चुकी है। यहां की कुछ संस्थाओं का मानना है कि 2033 तक जापान के कुल घरों में 30 फीसदी आकिया कहलाएंगे।

 

 

घर बन गए हैं परेशानी

आकिया यहां के लिए सामाजिक समस्या बन गए हैं। रखरखाव के अभाव में ये खूबसूरत घर जर्जर हो जाते हैं। लोग इनमें असमाजिक गतिविधियों को अंजाम देते हैं और इनके कभी भी ढह जाने का खतरा होता है। इसके अलावा जिन क्षेत्रों में ये इन घरों की संख्या ज्यादा है वहां का नगर निगम कम टैक्स इकठ्‌ठा कर पाता है। साथ ही खाली बिंल्डिंग से इलाके की वैल्यू भी कम होती है।

कैसे काम करते हैं आकिया बैंक

किसी इलाके में सभी खाली घरों को सेल के लिए ऑनलाइन पोस्ट किया जाता है। यहां पर लोग बेहद कम दामों पर बहुत आसान प्रक्रिया में घर खरीद सकते हैं। यहां के कई शहरों में आकिया बैंक खुले हुए हैं। हालांकि इन बैंक्स से कॉन्टैक्ट करने के लिए आपको जापानी भाषा का ज्ञान होना जरूरी है। अंग्रेजी में पूछे गए सवालों पर कोई जवाब नहीं भेजा जाएगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन