Home » Economy » Internationalफिच ने घटाया भारत की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान, घटाकर 6.7% किया - Fitch cuts India FY18 GDP growth forecast by 20 bps to 6.7 percent

फिच ने घटाया भारत का ग्रोथ अनुमान, इकोनॉमी के प्रदर्शन को बताया 'निराशाजनक'

दुनिया की तीन बड़ी रेटिंग एजेंसियों में शामिल फिच ने भारत के जीडीपी ग्रोथ में अनुमान कटौती की है।

1 of

 

नई दिल्ली. दुनिया की तीन बड़ी रेटिंग एजेंसियों में शामिल फिच ने भारत के जीडीपी ग्रोथ में अनुमान कटौती की है। साथ ही ग्रोथ के मोर्चे पर भारत के प्रदर्शन को 'लगातार निराशाजनक' बताया है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि मौजूदा वित्त वर्ष यानी 2017-18 में देश की जीडीपी ग्रोथ 6.7 फीसदी रह सकती है, जबकि पहले यह 6.9 फीसदी रहने का अनुमान था।

 

 

2018-19 के लिए भी घटाया ग्रोथ अनुमान

वहीं फिच ने 2018-19 के लिए ग्रोथ अनुमान को 10 बीपीएस यानी 0.10 फीसदी घटाकर 7.3 फीसदी कर दिया है, जबकि सितंबर के ग्लोबल इकोनॉमिक आउटलुक (जीईओ) में रेटिंग एजेंसी ने ग्रोथ 7.4 फीसदी रहने का अनुमान जाहिर किया था।

 

 

दो साल में जीडीपी ग्रोथ को मिलेगी रफ्तार

हालांकि फिच ने अनुमान जाहिर किया कि स्ट्रक्चरल रिफॉर्म का एजेंडा धीरे-धीरे लागू होने और लोगों की डिस्पोजल इनकम बढ़ने से अगले दो साल में जीडीपी ग्रोथ को रफ्तार मिलने का अनुमान है। एजेंसी ने अपने ताजा जीईओ में कहा, 'हालांकि हमारी अनुमान की तुलना में ग्रोथ की मजबूती कमजोर रही है और हमने मार्च 2018 में समाप्त वित्त वर्ष के लिए ग्रोथ अनुमान को घटाकर 6.7 फीसदी कर दिया है, जबकि सितंबर के जीईओ में यह आंकड़ा 6.9 फीसदी रहा था।'

 

 

निराशाजनक रही ग्रोथः फिच

अमेरिकी एजेंसी ने कहा कि हाल के क्वार्टर्स में ग्रोथ 'लगातार निराशानजक' रही है, इसकी वजह आंशिक तौर पर नवंबर में लागू हुई नोटबंदी और जुलाई, 2017 में जीएसटी का लागू होना रही है।

 

 

जुलाई-सितंबर 6.3% रही जीडीपी ग्रोथ

जुलाई-सितंबर क्वार्टर के दौरान भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट 6.3 फीसदी रही, जबकि पहले क्वार्टर में यह 5.7 फीसदी रही थी। जीडीपी में 0.6 फीसदी का यह उछाल इसलिए भी राहत भरा रहा है क्योंकि इसके पहले पिछले 5 क्वार्टर से जीडीपी ग्रोथ में लगातार गिरावट का दौर था। सेकंड क्वार्टर में आई तेजी की एक प्रमुख वजह मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 7 फीसदी की ग्रोथ होना रहा है।

 

 

किसका क्या है अनुमान

- इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड ने फिस्कल ईयर 2017-18 के लिए जीडीपी ग्रोथ 6.3 फीसदी रहने का अनुमान जताया है। वहीं, एशियन डेवलपमेंट बैंक ने फिस्कल ईयर 2017-18 के लिए जीडीपी ग्रोथ 7 फीसदी और इकोनॉमिक कॉपरेशन एंड डेवलपमेंट ने 6.7 फीसदी ग्रोथ रहने का अनुमान जताया है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट