Home » Economy » InternationalFacebook respond to US Senate questions with 500 pages of answers

फेसबुक का नया खुलासा : आपके की बोर्ड और माउस की मूवमेंट भी ट्रैक करते हैं, कैमरे पर भी नजर

फेसबुक एक के बाद एक चौंकाने वाले खुलासे कर रही है।

Facebook respond to US Senate questions with 500 pages of answers

कैलीफोर्निया। फेसबुक एक के बाद एक चौंकाने वाले खुलासे कर रही है। यूजर्स की नि‍जी जानकारी शेयर करने की बात स्‍वीकार करने के बाद कंपनी ने अब कहा है कि‍ वह यूजर की निजी जानकारी, पसंद-नापसंद जानने के लिए उसके कम्प्यूटर की-बोर्ड और माउस के मूवमेंट तक पर नजर रखता है। यानी अगर आपके कम्प्यूटर पर फेसबुक लॉगइन है, तो माउस के हर क्लिक और की-बोर्ड के हर इस्तेमाल की खबर फेसबुक तक पहुंच रही है। इस जानकारी से फेसबुक ये पता लगाता है कि यूजर किस तरह के कंटेंट पर कितनी देर तक ठहर रहा है। इसी के हिसाब से वो उस यूजर को विज्ञापन दिखाता है। कैम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक विवाद के बाद उपजे सवालों पर फेसबुक ने अमेरिकी संसद के उच्च सदन यूएस सीनेट को अपने जवाब दि‍या। करीब 454 पन्नों में इन सभी 2 हजार सवालों के जवाब दि‍ए गए हैं। 


कैम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक के बाद से फेसबुक की प्राइवेसी पॉलिसी लगातार सवालों के घेरे में है। यूएस सीनेट में फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग से सवाल-जवाब भी किए गए थे। कुछ सवालों पर उसी वक्त जिरह हो गई थी। बाकी सवालों के जवाब देने के लिए जकरबर्ग को समय दिया गया था। ऐसे सवाल कुल 2 हजार थे। फेसबुक ने कुल 454 पन्नों में इन सभी 2 हजार सवालों के जवाब दे दिए।

 

इन तरीकों से यूजर पर नजर रखता है फेसबुक


डिवाइस इन्फॉर्मेशन: आप जिस कम्प्यूटर, मोबाइल या डिवाइस से फेसबुक लॉगइन करते हैं, उसकी जानकारी फेसबुक को रहती है। जैसे- डिवाइस में कितना स्टोरेज बचा है, कौन-कौन से फोटो हैं, किसके नंबर सेव हैं।
ऐप इन्फॉर्मेशन:फेसबुक को ये भी पता रहता है कि यूजर डिवाइस में कौन-कौन से ऐप मौजूद हैं। यूजर किस एप को कितना समय देता है। इससे मिलने वाली जानकारी को वो डेटाबेस में यूजर प्रोफाइल के साथ सेव कर लेता है।
डिवाइस कनेक्शन: फेसबुक को पता रहता है कि यूजर किस नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहा है या कौन सा वाई-फाई चला रहा है। फेसबुक डिवाइस जीपीएस पर भी नजर रखता है, जिससे उसे यूजर की लोकेशन मिलती रहे।
बैटरी लेवल: यूजर की डिवाइस के बैटरी लेवल की भी फेसबुक निगरानी करता है। इससे वो पता लगाता है कि फेसबुक ऐप यूजर के डिवाइस की ज्यादा बैटरी तो नहीं ले रहा है। उस हिसाब से ऐप को अपडेट करता है।
कैमरा इन्फॉर्मेशन: फेसबुक ने कई बार नकारने के बाद अब कैमरा और माइक्रोफोन पर नजर रखने की बात को कबूल लिया है। उस हिसाब से वो यूजर को फेसबुक ऐप पर फिल्टर और अन्य फीचर सजेस्ट करता है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट