Home » Economy » InternationalDriverless trains to run in France

बिना ड्राइवर के दौड़ेंगी इस देश की ट्रेनें, 500 करोड़ रु. का बना बजट

एयरबस और हिताची कंपनी प्रोजेक्ट में शामिल

1 of

नई दिल्ली. फ्रांस की सरकारी रेलवे कंपनी एसएनसीएफ ने लंबी दूरी की यात्री व मालगाड़ियों को चालक रहित बनाने का एलान किया है। कंपनी का कहना है कि 2023 तक रेल नेटवर्क को ड्राइवर फ्री बना दिया जाएगा। इसके लिए 5.7 करोड़ यूरो (487 करोड़ रुपए) का बजट तय किया गया है। पहले चरण में खुद चलने वाली मालगाड़ियों को उतारा जाएगा। इस प्रोजेक्ट में विमान निर्माता कंपनी एयरबस और जापानी इलेक्ट्रॉनिक कंपनी हिटाची भी शामिल हैं। 

 

डॉयचे कंपनी से चल रही है बातचीत

फ्रांस पैसेंजर ट्रेनों को दूसरे चरण में ड्राइवरलेस बनाएगा। यह प्रोजेक्ट बमबार्डियर, बॉश और थालिस जैसी कंपनियों के साथ चलेगा। एसएनसीएफ के मुताबिक पूरे प्रोजेक्ट को लेकर जर्मनी की रेलवे कंपनी डॉयचे बान से भी बातचीत की जा रही है. इस बातचीत के जरिए पूरे यूरोप में चालक रहित ट्रेनों का नेटवर्क तैयार करने के लिए जरूरी मानकों पर चर्चा हो रही है। 

 

आगे पढ़े

ट्रेनें समय से चलेंगी और कम आएगा खर्च

जर्मनी कंपनी बॉश की फ्रांसीसी शाखा बॉश फ्रांस के प्रेसिडेंट हाइको कारी ने भी प्रोजेक्ट की पुष्टि की है। एसएनसीएफ का दावा है कि ड्राइवर रहित ट्रेनों से पूरे रेल नेटवर्क को फायदा होगा। कंपनी के मुताबिक इस सिस्टम से ट्रेनें समय से चलेंगी, रेलवे ट्रैफिक ज्यादा स्मार्ट बनेगा और ईंधन की खपत भी कम होगी। ड्राइवरों के शिफ्ट में काम करने की वजह से यूरोप के रेल नेटवर्क को कई बार देरी का सामना करना पड़ता है।

 

आगे पढ़े

 

फ्रांस में रोजाना 40 लाख लोग ट्रेन से सफर करते हैं सफर

फ्रांसीसी रेलवे कंपनी के पास इस वक्त 17,000 ट्रेनें हैं. इनका इस्तेमाल हर दिन 40 लाख यात्री करते हैं। लेकिन एसएनसीएफ को हर साल तीन अरब यूरो का घाटा हो रहा है। 2017 और 2018 में 1,48,000 कर्मचारियों वाली कंपनी ने कई बार हड़तालों का सामना किया। फ्रांस की सरकार एसएनसीएफ को हर साल 14 अरब यूरो की सब्सिडी देती है। नई योजना के मुताबिक 2020 में पहली सेमी ऑटोमैटिक ट्रेन चलेगी और तीन साल बाद पूरी तरह स्वचालित ट्रेनें चलने लगेंगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट