विज्ञापन
Home » Economy » InternationalCPEC corridor funds

पाकिस्तान ने खर्च कर दिए चीन के 2400 करोड़ रुपए, बढ़ा सीपीईसी प्रोजेक्ट पर टकराव

बीजिंग में BRI की दूसरी बैठक में चीन ने पाकिस्तान पर लगाए गंभीर आरोप 

CPEC corridor funds

CPEC corridor funds:  चीन और पाकिस्तान के रिश्तों के पीछे कारोबारी और कूटनीतिक फायदा एक बड़ी वजह है। इसमें चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) प्रोजेक्ट अहम किरदार निभाता है।

नई दिल्ली. चीन और पाकिस्तान के रिश्तों के पीछे कारोबारी और कूटनीतिक फायदा एक बड़ी वजह है। इसमें चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) प्रोजेक्ट अहम किरदार निभाता है। लेकिन इसी प्रोजेक्ट के अंतर्गत आने वाले बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) को लेकर विवाद चल रहा है। 

 

चीन पैसों को पाकिस्तान सरकार ने लगाया दूसरे प्रोजेक्ट पर 

बीजिंग में आयोजित BRI की दूसरी बैठक में दोनों देशों के बीच का विवाद नजर आया, जब चीन की ओर से पाकिस्तान सरकार पर आरोप लगाते हुआ कहा गया कि उसकी ओर से CPEC प्रोजेक्ट के फंड में से 171.6 मिलयन डॉलर (2400 रुपए) को दूसरी परियोजनाओं में लगा दिया गया है।चीन के मुताबिक इस फंड को बीआरआई प्रोजेक्ट के निर्माण के लिए दिया गया था। बता दें कि चीन ने पाकिस्तान को सीपीईसी प्रोजेक्ट के तहत 62 बिलयन डॉलर (6200 करोड़ रुपए) की इंफ्रास्ट्रक्चर फंडिंग की है। हालांकि पाकिस्तान प्लानिंग एडं डिपार्टमेंट ने इन पैसों को अन्य कार्यों में लगा दिया। सूत्रों के मुताबिक पाक सरकार ने यूनाइटेड नेशन के विकास कार्यों में इन पैसों को खर्च कर दिया।  

 

विपक्ष ने इमरान सरकार पर लगाया फंड चोरी का आरोप

ईडी की खबर के मुताबिक पाक पीएम इमरान खान की पार्टी तहरीक ए इंसान की मंत्रियों की ओर से इस पैसों का ट्रांसफर किया गया। पाक के विपक्षी दल के नेता मौलाना फजलुर्ररहमान ने कहा कि 2700 करोड़ रुपए के फंड में से 2400 रुपए को दूसरे प्रोजेक्ट पर खर्च कर देना, सरकार की तरफ से की गई एक तरह की चोरी है। 

 

इमरान सरकार के आने के बाद चीन से बिगड़े रिश्ते

जब से पाकिस्तान में इमरान खान पीएम बने है, तब से दोनों देशों के बीच विवाद बढ़ा है। इमरान सरकार के कैबिनेट मंत्री रज्जाक दाऊद ने सीपीईसी प्रोजेक्ट के संबंध में टिप्पणी की थी कि इस प्रोजेक्ट को एक साल के लिए बंद कर देना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि यह प्रोजेक्ट पाकिस्तान के हित में नहीं है। उनका कहना है कि इस प्रोजेक्ट से सिर्फ पाकिस्तान की पंजाबी व्यापारी को फायदा पहुंचेगा।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss