Advertisement
Home » Economy » InternationalChange the law for tax

700 अरब रुपए टैक्स भरकर भी खुश नहीं हैं यह शख्स, आखिर क्यों और भरना चाहता है टैक्स

ज्यादा टैक्स के लिए सरकार से नियम बदलने को रखी मांग

Change the law for tax

नई दिल्ली. आमतौर पर लोग टैक्स बचाने के लिए सारी जुगत लगा देते हैं। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होतें है, जिनका मानना होता है कि टैक्स के पैसों का उपयोग समाज को बेहतर बनाने में किया जाता है। इन्हीं में से एक बिल गेट्स हैं। गेट्स 700 अरब टैक्स भरने के बाद भी खुश नहीं हैं। उनके मुताबिक उन्हें और टैक्स भरना चाहिए था।

 

समाज के लिए टैक्स जरूरी

डेली मेल की खबर के मुताबिक बिल गेट्स ने कहा कि मैंने कानूनों का पालन करते हुए 700 अरब रुपए का टैक्स भरा है। लेकिन मुझे लगता है कि एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते मुझे और टैक्स भरना चाहिए था। उन्होंने कहा कि किसी राष्ट्र को आगे बढ़ाने के लिए टैक्स जरूरी होता है। इसलिए टैक्स सिस्टम को लगातार आगे बढ़ाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार को टेक फर्म से ज्यादा टैक्स लेने के लिए नियम में बदलाव करना चाहिए। 

 

गेट्स की 5 हजार अरब रुपए की है संपत्ति 

बिल गेट्स ने दुनिया की शीर्ष माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की स्थापना की थी। साल 2008 में वह माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की स्थापना की थी। मौजूदा समय में उनके पास 73 अरब डॉलर करीब 5170 अरब रुपए की संपत्ति है। हालांकि वो खुद को इस संपत्ति का हकदार नहीं मानते हैं।

 

बच्चों के लिए नहीं छोड़ना चाहते हैं संपत्ति 

गेट्स अपनी संपत्ति को बच्चों के लिए नहीं छोड़ चाहते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा करना तो बच्चों के लिए अच्छा होगा और न ही समाज में अच्छा संदेश जाएगा। गेट्स ने आगे कहा कि अपनी और बच्चों की जरूरतों को पूरान करने और टैक्स भरने के बाद जितना भी पैसा बचता है, वो सब समाज के अच्छे कामों के लिए है। उन्होंने गेट्स फाउंडेशन के जरिए इसी तरह समाज के निचले तबकों की जिंदगी आसान बनाने के लिए दिन-रात काम करते रहेंगे।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss