Home » Economy » Internationalamerica fear of f16 deal

भारत पर नहीं चला अमेरिकी दबाव, फाइटर प्लेन F-16 की खरीद बनी वजह

अमेरिकी डिप्लोमैट की मामले में आई सफाई

america fear of f16 deal

नई दिल्ली. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उस वक्त भारत पर दबाव बनाने की कोशिश थी, जब भारत ने रुस संग  S-400 ट्रिम्फ़ एयर डिफेंस सिस्टम खरीदने का समझौता किया था।अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत को अंजाम भुगतने की धमकी तक दे डाली थी। लेकिन अमेरिकी धमकी और दबाव का भारत पर कोई असर नहीं पड़ा। भारत, रुस के साथ किए समझौते को लेकर अडिग रहा। शायद इससे अमेरिका को समझ आया कि भारत दबाव में नहीं आने वााल देश नहीं है। 

 

F-16 सौदा बना वजह 

वहीं अमेरिका की ओर से भारत पर प्रतिबंध की स्थिति में  एफ16 फाइटर प्लेन का सौदा अधर में लटक की आशंका महसूस हुई। इसी के चलते अमेरिका को अपने रुख में बदलाव करना पड़ा। इस मामले में अमेरिकी डिप्लोमैट ने जवाब देते हुए कहा कि भारत पर अमेरिकी दबाव की खबरें बेबुनियाद हैं।

 

भारत पर अमेरिका प्रतिबंधों का नहीं मिला जवाब 

दरअसल ऐसी खबरें थी कि अमेरिका भारत पर एफ-16 फाइटर प्लेन खरीदने को लेकर दबाव बना रहा है। लेकिन अमेरिकी डिप्लोमैट ने इस बात से साफ इनकार किया है। यूनाइटेड स्टेट काउंसल जनरल एडगार्ड कगांन ने कहा कि भारत पर 15 अरब डॉलर के एफ-16 सौदे को लेकर कोई दबाव नहीं है। हालांकि अमेरिकी डिप्लोमैट ने भारत का रुस संग रक्षा समझौते को लेकर प्रतिबंध झेलने के सवाल पर कोई जवाब नहीं दिया। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट