विज्ञापन
Home » Economy » InternationalAmerican president Donald Trump ends Indias tax free country status

डोनाल्ड ट्रंप ने भारत को दिया बड़ा झटका, कर मुक्त देश का दर्जा समाप्त किया!

भारत के करीब 5 लाख करोड़ के कारोबार पर पड़ेगा असर

1 of

नई दिल्ली। अमेरिका ने अपने बाजारों तक उसकी पहुंच प्रदान करने में विफल रहने के बाद भारत के कर मुक्त देश के दर्जे को समाप्त करेगा। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कांग्रेस (संसद) को एक पत्र जरिए यह जानकारी दी है। 

 

आर्थिक विकास के आधार पर तुर्की का दर्जा भी समाप्त
ट्रम्प ने सोमवार को कांग्रेस को बताया कि “मैं प्राथमिकताओं" के सामान्यीकरण प्रणाली (जीएसपी) कार्यक्रम के विकासशील देश के तौर पर भारत को प्राप्त उपाधि को समाप्त करने की सूचना प्रदान कर रहा हूं। मैं यह कदम इसलिए उठा रहा हूं क्योंकि अमेरिका तथा भारत सरकार के बीच मजबूत संबंध के बावजूद मैंने यह पाया है कि भारत ने अमेरिका को यह आश्वासन नहीं दिया है कि वह अपने बाजारों में उसकी न्यायसंगत और उचित पहुंच प्रदान करेगा। इसके साथ ही ट्रम्प ने एक अलग पत्र में कांग्रेस को बताया है कि उन्होंने आर्थिक विकास के आधार पर तुर्की के कर मुक्त देश के दर्जे को भी समाप्त कर दिया है। डोनाल्ड ट्रंप की इस चिट्ठी के बाद अमेरिका ने भारत का कर मुक्त दर्जा समाप्त करने के लिए 60 दिनों का समय दिया है। 

 

भारत पर नहीं पड़ेगा ज्यादा असर
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत के कर मुक्त देश का दर्जा समाप्त करने पर प्रतिक्रिया देते हुए वाणिज्य सचिव अनूप वाधवान ने कहा कि इससे भारत पर कोई विशेष प्रभाव नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इस दर्जे के तहत भारत का केवल 5.6 बिलियन डॉलर यानी करीब 40 हजार करोड़ रुपए का कारोबार आता है। इससे भारत को 1300 करोड़ रुपए का ड्यूटी फ्री लाभ मिलता है।

 

दोनों देशों के बीच करीब 8 लाख करोड़ रुपए का कारोबार

 

अमेरिका के ट्रेड ऑफिस के आंकड़ों के अनुसार, वर्तमान में सालाना करीब 4 लाख करोड़ रुपए का सामान भारत से अमेरिका जाता है। जबकि अमेरिका से करीब 3 लाख करोड़ रुपए का सामान भारत आता है। यदि भारतीय कंपनियों की ओर से अमेरिका में दी जाने वाली सेवाओं को भी जोड़ दें तो यह करीब 5 लाख करोड़ रुपए का कारोबार हो जाता है। दोनों देशों के बीच गुड्स और सेवाओं को मिलाकर सालाना करीब 8 लाख करोड़ रुपए का कारोबार होता है। यह आंकड़े वित्त वर्ष 2017 के हैं।

दो दिन पहले ही दी थी कर लगाने की चेतावनी


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को कंजर्वेटिव पॉलिटिकल एक्शन कॉन्फ्रेंस (सीपीएसी) को संबोधित करते हुए भारत पर कर लगाने की बात कही थी। ट्रंप ने अमेरिकी मोटरसाइकिल हर्ले-डेविडसन मोटरसाइकिल का उदाहरण देते हुए कहा कि जब हम भारत को मोटरसाइकिल भेजते हैं तो उस पर 100 प्रतिशत का शुल्क लगाया जाता है, लेकिन जब भारत हमें मोटरसाइकिल का निर्यात करता है तो हम कुछ भी शुल्क नहीं लगाते हैं। ट्रंप ने कहा कि इसलिए मैं परस्पर बराबर कर चाहता हूं या फिर कम से कम एक शुल्क लगाना चाहता हूं। यह मिरर टैक्स (जवाबी शुल्क) होगा लेकिन परस्पर बराबर होगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन