विज्ञापन
Home » Economy » InternationalIndia Afghanistan new trade route

अफगानिस्तान एवं ईरान से व्यापार में पाकिस्तान नहीं अटका पाएगा रोड़ा, नए रुट से अफगानिस्तान से भारत पहुंचा सामान

वित्त मंत्रालय ने कहा, अब नहीं होगी पाकिस्तानी रुट की जरूरत, सेंट्रल एशियाई देशों तक आसान होगी पहुंच

1 of

नई दिल्ली. भारत, अफगानिस्तान और ईरान की राह का रोड़ा बने पाकिस्तान को बाईपास करने की रणनीति कामयाब होती दिख रही है। तीनों देशों के बीच चाबहार पोर्ट से व्यापार में आसानी होगी। साथ ही अब व्यापार के लिए पाकिस्तानी रुट की जरूरत नहीं होगी। अफगानिस्तान ने ईरान के चारबहार पोर्ट से पहली बार 570 टन प्रोडक्ट भारत भेजे थे, वो सफलता पूर्वक भारत के मुंबई और गुजरात पोर्ट पहुंच चके हैं। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने निमरोज प्रांत के जारांज शहर से 23 ट्रकों का काफिला चाबहार पोर्ट के लिए रवाना किया था। 

सेंट्रल एशिया तक पहुंच होगी आसान 

वित्त मंत्रालय के रेवेन्यू डिपार्टमेंट के प्रणब कुमार दास ने अफगानिस्तान से सामान के भारत पहुंचने पर खुशी जाहिर करत  हुए कहा कि अब भारत की सेंट्रल एशिया के देशों कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, अफगानिस्तान समेत यूरोप और रुस तक कम समय में सामान पहुंचाया जा सकेगा। इससे भारतीय व्यापार को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही व्यापार के लिए अब पाकिस्तानी रुट की जरुरत नहीं होगी। इस मौके पर भारत सरकार, व्यापार बॉडी फिक्की समेत कई मंत्रालय और आम लोगों ने खुशी का इजहार किया है। 

ये प्रोडक्ट भेजे गए भारत

अफगानिस्तान से कालीन, सूखे मेवे और कपास समेत 570 टन के माल है, जिन्हें भारत के लिए रवाना किया गया है। अब तक अफगानिस्तान से आने वाले प्रोडक्ट को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से पाकिस्तान कई तरह की अड़चने पैदा करता था। पिछले साल पाकिस्तान ने अफगानिस्तानी ट्रकों को रोक दिया था, जिसके बाद भारत ने अफगानिस्तानी प्रोडक्ट को हवाई रुट से मंगाया था। 

 

पाक रूट की जरूरत खत्म

अब तक इन उत्पादों को पाक के रास्ते पंजाब के अटारी बॉर्ड़र से भारत लाया जाता था।  हालांकि इसके लिए अफगानिस्तान को पाकिस्तान की इजाजत लेनी होती थी। साथ ही पाकिस्तान अफगानिस्तान ट्रकों को सीधे भारत न भेजकर अफगानिस्तानी प्रोडक्ट को पाकिस्तान के ट्रक में लोड करके भारत भेजता था। पाकिस्तान इसके पीछे सुरक्षा कारणों को वजह बताता था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss