बिज़नेस न्यूज़ » Economy » International72 घंटे में मोदी ने कड़े इनकार को इकरार में बदला, चीन पर नजर रखने के लि‍ए जगह देने पर राजी हुआ सेशेल्‍स

72 घंटे में मोदी ने कड़े इनकार को इकरार में बदला, चीन पर नजर रखने के लि‍ए जगह देने पर राजी हुआ सेशेल्‍स

सेशल्‍स एजम्‍पशन आइलैंड में भारत के साथ मि‍लकर नौसैनि‍क अड्डा बनाने के लि‍ए तैयार हो गया है।

A big diplomatic win for Modi government

नई दि‍ल्‍ली. 22 जून की सुबह 115 द्वीपों के देश सेशल्‍स के सरकारी अधिकारि‍यों के हवाले से खबर आई कि‍ भारत ने उनके एक द्वीप पर नौसैनि‍क अड्डा बनाने की जो योजना बनाई है उसे मंजूरी नहीं दी जाएगी। इस खबर के करीब 72 घंटे बाद दूसरी खबर ये आई कि‍ सेशल्‍स एजम्‍पशन आइलैंड में भारत के साथ मि‍लकर नौसैनि‍क अड्डा बनाने के लि‍ए तैयार हो गया है।

 

कूटनीति‍ की बदौलत महज 72 घंटे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेशेल्‍स की ना हो हां में तब्‍दील कर दि‍या। अब भारत के लिए यहां से चीन की गति‍वि‍धि‍यों पर नजर रखना आसान हो जाएगा। सेशल्‍स की ओर से इनकार वाला बयान शुक्रवार की सुबह आया था। अधि‍कारि‍यों ने कहा कि‍ वि‍रोधी पार्टि‍यां इस योजना के खि‍लाफ हैं और इस इलाके में भारतीय गति‍विधि‍यां उनकी संपुभता का हनन करेंगी। 


शुक्रवार की शाम भारत आए डैनी 


शुक्रवार की शाम को सेशेल्‍स के राष्ट्रपति‍ डैनी फॉर भारत आए। सोमवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डैनी के बीच हुई बातचीत में मोदी ने उन्‍हें मना लि‍या। यह परि‍योजना हिंद महासागर में चीन के बढ़ते दखल के लिहाज से भारत के लि‍ए बहुत महत्‍वपूर्ण है। चीन इस इलाके में लगातार अपनी पोजीशन मजबूत कर रहा है। इसे देखते हुए भारत ने सेशेल्‍स के साथ यह समझौता कि‍या था। मोदी से बातचीत के बाद डैनी ने कहा कि‍ एजम्‍पशन आइलैंड पर भारतीय नौसैनि‍क अड्डे को लेकर हमारी चिंताएं अब दूर हो गई हैं। दोनों देश साथ मि‍लकर काम करेंगे। 


भारत ने पलटी हारी बाजी 
सेशेल्‍स को नौसैनि‍क अड्डा बनाने के लि‍ए राजी करना मोदी सरकार की बड़ी कूटनीति‍क कामयाबी मानी जा रही है। भारत यात्रा से चंद दि‍नों पहले ही डैनी ने कहा था कि‍ जब वह भारत जाएंगे तो इस बारे में कोई बात नहीं करेंगे। उनका कहना था कि‍ इस इलाके में हमारा अपना सैन्‍य अड्डा होना चाहि‍ए। फि‍र उनकी यात्रा से पहले भी सरकारी अधि‍कारि‍यों के हवाले से ये खबर आई सेशेल्‍स भारत के प्रस्‍ताव पर आगे काम नहीं करेगा। हालांकि‍ भारत ने बाजी पटल दी। 


कर्ज भी देगा भारत 
भारत ने सेशेल्‍स को अपनी रक्षा क्षमता में इजाफा करने के लि‍ए करीब 680 करोड़ रुपए का कर्ज देने का भी एलान कि‍या है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस पैसे से सेशेल्‍स समुद्र में अपनी ताकत बढ़ाने के लि‍ए रक्षा उपकरण खरीद सकेगा।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट