Home » Economy » Internationalformer pakistani judge has 2,224 cars registered on his name

पाकिस्तानी जज के साथ लोगों ने किया 'कार'नामा, दो हजार कारों की कराई फर्जी रजिस्ट्री

एक चालान ने खोली इस मामले की पोल

1 of

 

नई दिल्ली। दुनिया के अमीर से अमीर शख्स के पास भी इतनी गाडियां नहीं होंगी, जितनी पाकिस्तान के इस रिटायर्ड जज के पास निकलीं। यह गिनती हजारों में है। जी हां, पाकिस्तान के 82 वर्षीय रिटायर्ड जज के नाम पर 2,224 कारों की रजिस्ट्री का खुलासा हुआ है। मजेदार बात तो यह है कि ये सारी गाडियां उनकी हैं भी नहीं। वहां के लोगों ने उनके नाम पर इन गाडियों की रजिस्ट्री कराई है। यानी पाकिस्तान में जज को ही चूना लगा दिया गया है।

 

चालान कटा तो सामने आई सच्चाई

पाकिस्तानी जज सिकंदर हयात के पते पर एक चालान पहुंचा, जो किसी और की गाड़ी पर लगाया गया था। उन्होंने चालान के बारे में पंजाब एक्साइज आैर टैक्सेशन डिपार्टमेंट को बताया जिसके बाद यह मामला सामने आया। डिपार्टमेंट के रिकॉर्ड्स के मुताबिक उनके नाम 2,224 कारें रजिस्टर्ड थीं। जबकि उनके वकील मियां जफर ने सुप्रीम कोर्ट को भी बताया कि सिकंदर हयात सिर्फ एक कार के मालिक हैं।

 

आगे पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट ने मांगा डिपार्टमेंट से जवाब

 

 

सुप्रीम कोर्ट ने मांगा डिपार्टमेंट से जवाब

इस मसले के उजागर होते ही पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब के एक्साइज डिपार्टमेंट के डायरेक्टर को जवाबतलब कर लिया है। कोर्ट ने डिपार्टमेंट से एक हफ्ते के अंदर इस मामले पर रिपोर्ट सौंपने को कहा है। नियम कानून के मामले में पाकिस्तान की छवि वैसे ही बहुत अच्छी नहीं है। ऐसे में जज के साथ हुई यह धोखाधड़ी वहां के लोगों के मनमाने रवैए की झलक देती है।

 

आगे पढ़ें- कार कल्चर खत्म कर रही है पाकिस्तानी सरकार

 

 

कार कल्चर खत्म कर रही है पाकिस्तानी सरकार

हाल में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने इमरान खान पैसों की किल्लत से जूझ रहे अपने देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए सरकार की फिजूलखर्चियों पर लगाम लगाना शुरू कर दिया है। उन्होंने 60 सरकारी लक्जरी गाडियां बेची हैं। देश के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की खरीदी हुई आठ भैंसों की नीलामी करके सरकार को 23,02,000 रुपए की आमदनी हुई। लक्जरी गाड़ियों की नीलामी से 20 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट