Home » Economy » Infrastructureअपनी कैपेसिटी से 40 फीसदी कम जनरेशन कर रहे हैं पावर प्‍लांट्स

40% कम जनरेशन कर रहे देश के पावर प्‍लांट, बढ़ सकता है बिजली संकट

पावर प्‍लांट्स अपनी कैपेसिटी से 40 फीसदी कम जनरेशन कर रहे हैं।

1 of

 

नई दिल्‍ली। पावर प्‍लांट्स अपनी कैपेसिटी से 40 फीसदी कम जनरेशन कर रहे हैं। लगभग एक साल पहले भी यही स्थिति थी, लेकिन सरकार के प्रयासों के बाद हालात सुधर गए थे, लेकिन अक्‍टूबर 2017 में फिर से पावर प्‍लांट्स का प्‍लांट लोड फैक्‍टर (पीएलएफ) 60 फीसदी से नीचे पहुंच गया है। कोयले की कमी और डिस्‍कॉम्‍स द्वारा बिजली न खरीदने के कारण यह हालात पैदा हुए हैं। 
 
क्‍या हैं नए आंकड़ें 
सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी अथॉरिटी (सीईए) की अक्‍टूबर माह की रिपोर्ट बताती है कि थर्मल प्‍लांट्स का पीएलएफ 59.69 फीसदी रहा। इससे पहले सितंबर 2016 में 57.93 फीसदी था, लेकिन उसके बाद से पीएलएफ लगातार बढ़ता रहा। जून 2017 में तो सबसे अधिक 70.15 फीसदी तक पहुंच गया। लेकिन उसके बाद से लगातार पीएलएफ कम हो रहा है। 
 
ऐसे कम हुआ पीएलएफ 
अप्रैल 2017 से लेकर अक्‍टूबर 2017 के बीच पीएलएफ का स्‍तर अलग-अलग रहा। 
महीना  पीएलएफ % में 
अप्रैल 2017 65.59
मई 2017 64.39
जून 2017 70.15 
जुलाई 2017 68.45
अगस्‍त 2017 66.17 
सितंबर 2017 60.69
अक्‍टूबर 2017 59.69 

*सोर्स : सीईए 

 

क्‍या है वजह 
थर्मल प्‍लांट्स बंद होने की दो वजह बताई जा रही हैं। सीईए की वेबसाइट बताती है कि थर्मल प्‍लांट्स को कोयला नहीं पहुंचा रहा है। इस कारण 40 से अधिक यूनिट पूरी तरह बंद पड़ी है, जबकि लगभग सभी थर्मल यूनिट अपनी कैपेसिटी से कम जनरेशन कर रही हैं। दूसरी बड़ी वजह है कि डिस्‍कॉम्‍स बिजली नहीं खरीद रही हैं, हालांकि इन डिस्‍कॉम्‍स के इलाकों में बिजली कटौती जारी है। सरकार के ही अधिकारी मानने लगे हैं कि उज्‍जवल डिस्‍कॉम्‍स एश्‍योरेंस योजना के बाद भी डिस्‍कॉम्‍स इस स्थिति में नहीं पहुंच पाई है कि बिजली खरीद सकें। डिस्‍कॉम्‍स ने कई प्राइवेट सेक्‍टर के थर्मल प्‍लांट्स के साथ पावर परचेज एग्रीमेंट तक कैंसिल कर दिए हैं। 

 

बिगड़ सकते हैं हालात 

पावर मिनिस्‍ट्री के एक अधिकारी ने माना कि हालात यही रहे तो पीएलएफ और बढ़ सकता है। इससे राज्‍यों में पावर शॉर्टेज बढ़ सकता है। जबकि सर्दियां बढ़ने पर पावर डिमांड बढ़ती है। वहीं, हाइड्रो पावर प्‍लांट्स का जनरेशन भी कम हो जाता है। 

 

क्‍या है पीएलएफ 
प्‍लांट लोड फैक्‍टर का आकलन एक पावर प्‍लांट की कुल कैपेसिटी के मुकाबले वास्‍तविक जनरेशन से किया जाता है। यदि किसी पावर प्‍लांट की जनरेशन कैपेसिटी 1000 मेगावाट है और प्‍लांट 600 मेगावाट जनरेशन कर रहा है तो उस प्‍लांट का पीएलएफ 60 फीसदी माना जाता है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट