विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureModi government will invest 30 lakh crore rupee on transport sector within next 5 years

प्लान / 30 लाख करोड़ की लागत से देश में बिछेगा सड़कों-रेलमार्गों का जाल, नौकरियों की होगी बरसात

देश के ढांचागत विकास पर अगले पांच सालों में खर्च होंगे 100 लाख करोड़ रुपए

Modi government will invest 30 lakh crore rupee on transport sector within next 5 years

नई दिल्ली। चुनावी घोषणा पत्र में देश के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए 100 लाख करोड़ रुपए खर्च करने का वादा करने वाली भाजपा ने इस पर काम शुरू कर दिया है। पार्टी से जुड़े सूत्रों के हवाले से प्रकाशित एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि इन 100 लाख करोड़ रुपए में से सबसे ज्यादा 30 लाख करोड़ रुपए परिवहन सेक्टर में खर्च किए जाएंगे। सूत्रों के अनुसार, अगले पांच साल में अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए देश में सड़क और रेलमार्गों का जाल बिछाया जाएगा। इससे नौकरियां भी सृजित होंगी। 

ये भी पढ़ें--

2020 में लॉन्च होगी फेसबुक की क्रिप्टोकरेंसी, कई बैंकों के संपर्क में कंपनी

पांच सालों में इन क्षेत्रों पर खर्च होंगे लाखों करोड़ रुपए

रिपोर्ट के अनुसार, अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए नई केंद्र सरकार का मुख्य फोकस सड़क और रेल परिवहन पर रहेगा। इसके लिए 30 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इसके अलावा देश की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने पर भी नई सरकार का पूरा फोकस रहेगा। इस सेक्टर पर सरकार करीब 20 लाख करोड़ रुपए खर्च करेगी। तेजी से बढ़ते शहरीकरण को देखते हुए सरकार शहरी इंफ्रास्ट्रक्चर और हाउंसिग सेक्टर अगले पांच सालों में 12 लाख करोड़ रुपए खर्च करेगी। इस योजना के तहत शहरों की ओर पलायन करने वालों को छत मुहैया कराने के मकसद से 2 करोड़ घरों का निर्माण किया जाएगा। इसके बाद हेल्थ और रक्षा सेक्टर पर सरकार का फोकस रहेगा। इन दोनों सेक्टर्स पर सरकार अगले पांच सालों में क्रमश: 10 और 9 लाख करोड़ रुपए खर्च करेगी। इसके अलावा डिजिटल सेक्टर पर 7 लाख करोड़, कृषि सेक्टर पर 5 लाख करोड़, माइनिंग और मेटल सेक्टर में 5 लाख करोड़, शिक्षा क्षेत्र में 1 लाख करोड़ और पर्यटन सेक्टर में 1 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा।

ये भी पढ़ें--

मोदी 2.0 सरकार में 6.5 करोड़ नौकरियां के लिए इलेक्ट्रिक गाड़ियों पर होगा फोकस, एक्शन प्लान तैयार

इन प्रोजेक्ट पर रहेगा फोकस

सूत्रों के अनुसार, रेल मार्ग को मजबूत बनाने के लिए अगले पांच सालों में सरकार की ओर से 10 हाईस्पीड रेल कॉरिडोर का निर्माण के लिए 10 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा। इसके अलावा डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के निर्माण पर 3 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा। साथ ही नदी परिवहन को बढ़ाने के लिए अगले पांच सालों में 37 नदियों को एक-दूसरे से जोड़ने के लिए कार्य किया जाएगा। सागरमाला प्रोजेक्ट के तहत अगले 5 सालों में 605 पोर्ट्स का निर्माण या सुदृढ़ीकरण किया जाएगा। कृषि अवशेषों के निपटारे के लिए देशभर में 5 हजार बायोगैस प्लांट्स का निर्माण किया जाएगा। 

ये भी पढ़ें--

अब समुद्र की गहराइयों को देख सकेंगे पर्यटक, उबर ने लॉन्च की पहली सबमरीन राइडसेवा

नौकरियों की होगी बरसात

पार्टी से जुड़े सूत्रों के अनुसार, बीते कार्यकाल में मोदी सरकार पर नौकरियां नहीं देने के आरोप लगते रहे हैं। अब नई सरकार में सरकार का फोकस नौकरियों का सृजन पर भी रहेगा। सूत्रों का मानना है कि सड़क और रेलमार्गों के निर्माण के साथ ढांचागत विकास पर निवेश से देश में नौकरियों के अवसर पैदा होंगे। साथ ही अर्थव्यवस्था को भी मजबूती मिलेगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन